मधेपुरा : कुमारखंड के रामनगर महेश में बालीवुड कलाकारों का जलवा – पूरी रात झूमते रहे लोग

728x90
Spread the news

मुजाहिद आलम
संवाददाता
कुमारखंड, मधेपुरा

कुमारखंड/ मधेपुरा/बिहार: प्रखंड के रामनगर महेश पंचायत स्थित काली मंदिर परिसर में सार्वजनिक काली पूजा के अवसर पर शुक्रवार की रात श्यामा युवा नाट्य कला परिषद् के तत्वाधान में दो दिवसीय सांस्कृतिक कार्यक्रम की आखिरी रात भव्य सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किया गया । कार्यक्रम का शुभारंभ समाजसेवी बिमल चंद्र झा ने किया।

     कार्यक्रम में मुंबई की सुविख्यात  बॉलीवुड अदाकारा पायल मुखर्जी जिन्होंने कई बार सारेगामा कार्यक्रम में भी अपना जलवा बिखेरा है, गायक अविनाश ठाकुर, गजल की आवाज कही जाने वाली निशा घोष ,  सुरीली आवाज के जाने-माने गायक पिंकू सागर की पुरी टीम ने आखिरी रात हजारों की संख्या में मौजूद दर्शकों के दिलों को एक से बढ़कर एक नए-पुराने गीतों से झूमने पर मजबूर कर दिया । दूसरे गायकों के हमशक्ल में गीतों को गाने वाले मशहूर गायक पिंकू सागर में एक से बढ़कर एक नए पुराने गीतों से दर्शकों का दिल जीत लिया। आवाज के जादूगर जिन्होंने मोहम्मद रफी,अलका यागनिक, उदित नारायण,मुकेश कुमार के गाए हुए गीतों को अपनी आवाज में एक से बढ़कर एक मधुर गाना प्रस्तुत किया ।

advertisement

      कार्यक्रम की शुरुआत  की शुरुआत ” दर्दे दिल दर्दे जिगर दिल को जगाया आपने” , दर्द भरे गीत -“तु पसंद है किसी और की तुम्हें चाहता कोई और है”   से की गई । पिंकू सागर ने एक से बढ़कर एक दर्द भरे गीतों पर दर्शकों को पूरी रात झूमने व गुनगुनाने को मजबूर कर दिया। आवाज के जादूगर कही जाने वाली पायल मुखर्जी जिनको देखने सुनने के लिए बेताब दर्शकों ने काफी इंतजार किया ,जैसे ही स्टेज पर कदम रखी कि तालियों की आवाज से महफिल सराबोर हो गया । पायल स्टेज पर आते ही दर्शकों का अभिवादन करते हुए अपनी मधुर सुरीली आवाज में गाना प्रस्तुत की। “दिल दीवाना बिन सजना के माने ना यह पगला है समझाने से समझे ना”  पर हजारों की संख्या में मौजूद दर्शक खुशी से झूम उठे।”दुनिया मांगे अपनी मुरादे हम मांगे अपनी मुरादे” , “सुन साहिबा सुन प्यार की धुन मैंने  तुझे चुन लिया तू भी मुझे चुन”  जैसे एक से बढ़कर एक गीत,ग़ज़ल,नगमा,शेरों,शायरी पूरी रात दर्शकों को सुनाते रहे ।दर्शक सुरीली आवाज पर पूरी रात गीतों के धुन पर बंधे रहे।

    मौके पर  मानस झा, पंकज कुमार झा, राजकुमार ठाकुर, आशिष ठाकुर, संजय ठाकुर,  प्रकाश चंद्र झा,  आनंद मिश्र, ललित मिश्र, ललितनाथ झा, पप्पू झा, निवास चंद्र झा, विकास विद्रोही समेत  नाट्य कला परिषद के अन्य सदस्य और पुलिस प्रशासन मुस्तैद नजर आए।


Spread the news