दरभंगा : अलग अलग जगहों पर हुई आग लगने की घटना में भारी नुकसान, सरकारी कर्मी की लापरवाही हुई उजागर

728x90
Spread the news

ज़ाहिद अनवर (राजु) / दरभंगा

दरभंगा/बिहार : बेनीपुर प्रखंड क्षेत्र के छोटकी तरौनी गांव में गुरूवार की सुबह बिजली के शॉट सर्किट से उमाशंकर झा का घर जल कर राख हो गया। गृहस्वामी के अनुसार सुबह करीब 5 बजे के अनुसार शॉट सर्किट से आग लग गया जिसे देखतें ही देखते पूरा सामान सहित घर जल कर राख हो गया। अधिक संख्या में ग्रामीण जमा हो जाने के कारण आग पर काबू पा लिया गया। दूसरी घटना हायाघाट प्रखंड के श्रीरामपुर पंचायत के हवासा गांव में हुआ जहाँ भुवन मांझी का घर आग के चपेट में आने से पूरा घर जल कर राख हो गया। घर में रखे 15000 हजार रुपए और दो क्विंटल चावल, पाँच क्विंटल गेहू और घर का सभी सामान कपड़ा बिछावन सहित पूरा समान जल कर राख हो गया। तीसरी घटना हनुमाननगर प्रखंड के विशनपुर थाना क्षेत्र के नवटोली बिशौल में बीती रात अगलगी की घटना ने एक साथ पांच परिवार को बेघर कर दिया। इस घटना में परीक्षण राय, सियाराम राय, रिशु राय, निकेश्वर पासवान व राजकिशोर पासवान का घर जलकर राख हो गया। आग से हजारों रुपये की संपत्ति खाक होने का अनुमान लगाया जाता है।

मिली जानकारी के अनुसार बुधवार की मध्य रात्रि अचानक लगी आग को बेकाबू होता देख ग्रामीणों ने इस बात की सूचना विशनपुर थानाध्यक्ष देवराज राय को दी। थानाध्यक्ष ने तत्परता दिखाते हुए जिला से अग्निशामक गाड़ी बुलाई, लेकिन रास्ता संकड़ी होने के कारण आग बुझाने वाली गाड़ी घटना स्थल पर नहीं पहुंच सकी। ग्रामीणों ने कड़ी मशक्कत से पम्पसेट व चापाकल से पानी निकाल कर आग पर काबू पाया।

घटना की सूचना पाकर प्रभारी सीओ कमलेश कुमार ने स्थल निरीक्षण के लिए सीआई अशोक कुमार मिश्र को भेजा। सीआई ने भी आपदा की इस घटना में लापरवाही दिखाई और घटनास्थल के मुआयने के लिए गैर सरकारी मुंशी शम्भु ठाकुर को भेजा। सीओ के शिथिल रवैया के कारण समाचार लिखे जाने तक सरकार द्वारा आपदा राहत कोष से कोई भी सहायता राशि एक भी पीड़ित परिवार को नहीं मिल सकी है। जबकि घटना की सूचना सीओ को सुबह में ही मिल गई थी।


Spread the news