चौथी बरसी पर मधेपुरा के किसानों ने लिया संकल्प   

Photo : www.therepublicantimes.coPhoto : www.therepublicantimes.co
728x90
Spread the news

मधेपुरा/बिहार (प्रेस विज्ञप्ति) : वर्ष 2017 के 6 जून को मध्यप्रदेश के मंदसौर में अपने फसल का समर्थन मूल्य मांग रहे किसानों पर भाजपा सरकार द्वारा निर्मम ता पूर्वक गोली चलाकर 6 किसानों की हत्या किए जाने की चौथी बरसी पर अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के राष्ट्र व्यापी आह्वान पर आज यहां बिहार राज्य किसान सभा के कार्यकर्ताओं ने मंदसौर के शहीद किसानों को याद करते हुए उनके अधूरे कामों को पूरा करने का लिया संकल्प।

 किसान सभा के प्रखंड कार्यालय परिसर में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बिहार राज्य किसान सभा के प्रभारी एवं भाकपा राष्ट्रीय परिषद सदस्य प्रमोद प्रभाकर ने कहा कि जब तक केंद्र सरकार तीन काले कृषि कानून एवं बिजली संशोधन बिल 2020 वापस नहीं लेती और कृषि उत्पादों की लागत से डेढ़ गुना दाम पर खरीद नहीं करती तब तक किसानों का सतत संघर्ष जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि सरकार की किसान विरोधी नीति के कारण प्रतिवर्ष देश में 12000 किसान आत्महत्या करने को मजबूर हैं, श्री प्रभाकर ने कहा कि हम किसान आंदोलन के उद्देश्यों को गांव-गांव तक पहुंचाएंगे तथा किसान मजदूर विरोधी मोदी -नीतीश सरकार के खिलाफ व्यापक एकजुटता बनाकर लड़ाई लड़ेंगे और जीतेंगे।

किसान सभा के प्रखंड संयोजक अशोक यादव उर्फ मिनती यादव, भाकपा  के अंचल मंत्री मोहम्मद जहांगीर, युवा किसान नेता नवीन कुमार एवं रमेश कुमार शर्मा ने कहा कि भाजपा पूरी तरह किसान मजदूर विरोधी एवं कारपोरेट पक्षी है, नेताओं ने कहा कि मंदसौर में किसानों की हत्या एवं दिल्ली बॉर्डरों पर चल रहे किसान आंदोलन में लगभग 500 किसानों की शहादत के लिए मध्य प्रदेश की तत्कालीन भाजपा सरकार एवं केंद्र की भाजपा नेतृत्व वाली  मोदी सरकार जिम्मेवार है। इन नेताओं ने कहा कि किसानों की अनदेखी करने के गंभीर परिणाम होंगे,

संकल्प कार्यक्रम में सरपंच राजेंद्र राम, धीरेंद्र यादव ,विजेंद्र यादव अशोक यादव, सुरेंद्र यादव ,संतोष राम ,मोहम्मद इस्लाम आदि किसान नेता शामिल थे।


Spread the news

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें