मधेपुरा : शांतिपूर्ण माहौल में संपन्न हुआ कोसी स्नातक चुनाव, जिले के 16 मतदान केंद्रों पर 57.25 % मतदान

Spread the news

अमित कुमार अंशु
उप संपादक

मधेपुरा/बिहार : बिहार विधान परिषद के कोसी स्नातक चुनाव को लेकर जिले 16 मतदान केंद्रों पर 17 प्रत्यशियों के लिए गुरुवार को वोट डाले गये।  चुनाव शांतिपूर्ण एवं निष्पक्ष रूप से संपन्न कराई गई, जिसे लेकर जिले के सभी मतदान केंद्रो पर प्रशासनिक व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त दिखी। सभी केंद्रो पर जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ साथ पुलिस पदाधिकारी, पुलिस बल एवं पैरामिलिट्री फोर्स के जवान तैनात रहे। कोसी स्रातक निवार्चन का मतदान गुरुवार को शांतिपूर्ण माहौल में कड़ी सुरक्षा के बीच  संपन्न हुआ। सुबह आठ बजे से लेकर शाम के पांच बजे तक जिले के 16 मतदान केंद्रों पर 57.25 प्रतिशत मतदान किया गया। मतदान को लेकर प्रशासनिक पदाधिकारी काफी सजग दिख रहे थे। स्रातक मतदाताओं ने अपने – अपने मतदान केंद्र पर पहुंच कर मतदान में हिस्सा लिया। महिला मतदाताओं की तादाद भी मतदान केंद्रों पर नजर आया।

जिले में 5126 मतदाता ने किया मताधिकार का प्रयोग : कोसी स्नातक का चुनाव बैलेट पेपर के माध्यम से किया गया। चुनाव में किसी तरह की कोई चूक न हो, इसके लिए पीठासीन पदाधिकारी, पोलिग एजेंट के साथ पुलिस टीम व सभी मतदान कर्मी भी पूरी तरह सजग दिखे. जिला पदाधिकारी नवनीत शुक्ला एवं पुलिस अधीक्षक योगेंद्र कुमार स्वंय सभी मतदान केंद्रों पर जाकर मतदान केंद्रों का निरीक्षण कर रहे थे तथा संबंधित अधिकारियों को दिशा निर्देश दे रहे थे, साथ ही दोनों अनुमंडल के अनुमंडल पदाधिकारी एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी भी अपनी अनुमंडल क्षेत्र का निरीक्षण कर रहे थे। मतदान को लेकर जिले के सभी प्रखंड मुख्यालयों में मतदान केंद्र बनाया गया था। वहीं सदर प्रखंड मुख्यालय में दो एवं सदर अनुमंडल कार्यालय परिसर में दो मतदान केंद्र बनायेे गये थे, मतदान केंद्रों पर सुबह आठ बजे से शाम पांच बजे तक वोट डाले गये, 16 मतदान केंद्रों पर करीब आठ हजार नौ सौ 54 मतदाता में से पांच हजार एक सौ 26 मतदाता ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

कोरोना संक्रमण के नियमों का किया जा रहा था पालन : कोरोना संक्रमण के बीच कोसी स्नातक चुनाव को लेकर जिला प्रशासन पूरी तरह तैयार दिखे। वोट डालने के समय कोरोना संक्रमण को लेकर जारी किए गए दिशा-निर्देश में किसी तरह की त्रुटि ना रहे, इसके लिए कर्मी पूरी तरह तैनात रहे। सभी मतदान केंद्रों पर एक-एक मीटर की दूरी पर गोलाकार घेरा बनाया गया था। जिसके अंतर्गत मतदाता को खड़े होकर वोट डालने की अनुमति दी जा रही थी। साथ ही मुख्य तैनात सुरक्षाबलों द्वारा मास्क पहने हुए मतदाता को ही मतदान केंद्र के अंदर प्रवेश करने की अनुमति दी जा रही थी। जिन मतदाताओं ने मास्क का प्रयोग नहीं किया था, उन्हें मास्क पहनकर वापस आने का निर्देश दिया जा रहा था, वोट डालने पहुंचे मतदाता से पहले सैनिटाइजर का प्रयोग करवाया जा रहा था, जिसके बाद मतदाता का थर्मल स्क्रीनिंग किया जा रहा था, जिसके बाद उन्हें वोट डालने के समय ग्लब्स का प्रयोग करने के लिए ग्लब्स भी दिया गया था।

दिन बढ़ने के साथ बढ़ी मतदाताओं की संख्या : कोसी स्नातक चुनाव शांतिपूर्वक एवं स्वच्छ एवं निष्पक्ष चुनाव कराने को लेकर पीठासीन पदाधिकारी, पोलिग एजेंट के साथ पुलिस टीम व सभी मतदान कर्मी सो समय अपनी मतदान केंद्रों पर पहुंच कर तैनात हो गए, लेकिन लगभग सभी मतदान केंद्रों पर शुरुआती समय में मतदाताओं की संख्या काफी कम दिख रही थी, इक्के-दुक्के मतदाता ही मतदान केंद्र पर पहुंचकर, अपने मत का प्रयोग कर वापस जा रहे थे। इसके बाद जैसे-जैसे दिन बढ़ता गया, वैसे-वैसे मतदाताओं की संख्या भी बढ़ती गई. दोपहर बाद सभी मतदान केंद्रों पर मतदाताओं की लंबी लाइन देखी गई। साथ ही साथ मतदान केंद्रों के आसपास भी मतदाताओं की चहल-पहल देखी गई। यह लंबी लाइन लगभग सभी मतदान केंद्रों पर देर शाम तक देखी गई।


Spread the news

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें