मधेपुरा : संदिग्‍ध स्थिति में मिला युवती का शव, ऑनर किलिंग का संदेह

728x90
Spread the news

वसीम अख्तर
उप संपादक

मधेपुरा/बिहार : जिले के पुरैनी थाना क्षेत्र के औराय से पूर्व मुसहरिया चौर के  पोखर में संदिग्ध स्थिति में एक युवती का शव मिला है, शव की  पहचान औराय पंचायत के वार्ड छ की सदस्या सावो देवी एवं योगेन्द्र शर्मा की 19 वर्षीय पुत्री आशा कुमारी के रूप में की गयी है। प्रथम दृष्टतया शव को देखने से ऐसा प्रतीत हो रहा था जैसे की कई दिन पूर्व हत्या कर शव को लाकर  फेंका गया हो। हालांकि पुरैनी पुलिस ने आनर किलिंग की संदेह बताया है पुरैनी पुलिस शव को अपने कब्जे में लेकर मामले की छानबीन कर रही है।

इस बाबत मिली जानकारी के अनुसार शुक्रवार की दोपहर बाद खेत में काम कर रहे ग्रामीणों और बच्चों की नजर पोखर में एक शव के  दोनों हाथों पर पड़ी। उसके बाद ग्रामीणों ने यह जानकारी गांव वाले को दिया। युवती की लाश मिलने की खबर से पूरे इलाके में सनसनी फैल गयी।

इसी बीच ग्रामीणों के द्वारा पुरैनी थाना को बात की जानकारी दी गयी। पुरैनी पुलिस आनन फानन में उक्त स्थल पर पहुंचकर शव को पोखर से बाहर निकाली। शव को देखते ही वहां मौजूद लोग स्तब्ध रह गए हो क्योंकि लाश की पहचान लगभग 10 दिन से गायब पूर्वी औराय निवासी योगेंद्र शर्मा की 19 वर्षीय पुत्री आशा कुमारी के रूप में की गयी। युवती की लाश को देखने से यह प्रतीत होता है कि उसकी हत्या 10 दिन पूर्व ही कर दी गई थी जिसके बाद उसके शरीर में एक हरे रंग के प्लास्टिक के बोरे में ईटा व पत्थर भरकर उसे बांधकर पानी में फेंक दिया गया था।

28 जनवरी से लापता उक्त युवती के परिजनों के द्वारा थाना में उसकी गुमशुदगी का रिपोर्ट भी दर्ज नहीं कराया था।

शव को प्रभारी थानाध्यक्ष रमेश कुमार रजक ने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए मधेपुरा सदर अस्पताल भेज दिया। थानाध्यक्ष ने बताया कि युवती का मां-बाप घर से फरार है। थानाध्यक्ष ने कहा कि शव को देखने से मामला आनर किलिंग का लग रहा है। अब सवाल है कि आखिर 28 तारीख  को हीं जब युवती लापता हुई तो थाना में गुमशुदगी की  रिपोर्ट क्यों नहीं दर्ज कराया गया। बहरहाल थानाध्यक्ष ने कहा कि युवती का हत्यारा जो भी हो उसे किसी भी सूरत में बख्सा नहीं जाएगा।


Spread the news