दुनिया की पहली महिला आरोही पंडित ने अकेले किया अटलांटिक महासागर पार

(फोटो –टीआरटी)
728x90
Spread the news

अनूप ना. सिंह
स्थानीय संपादक

भारत में बेटियों को बेटों की अपेक्षा काम आँका जाता है और हर संभव प्रयास बेटों के लिए किये जाते हैं। लेकिन आज के दौर में यदि लड़कियों को भी आगे बढ़ाया जाये तो वे कम नहीं हैं, यह साबित करते आ रही हैं लड़कियाँ। भारत के एक ऐसी युवती जिसने पूरे विश्व में रिकॉर्र्ड बनाया है। 23 वर्षीय आरोही पंडित मुंबई की रहनेवाली है और उन्होंने लाइट स्पोटर्स एयरक्राफ्ट (एलएसए) में अकेले ही अन्ध महासागर (अटलांटिक महासागर) को पार करने वाली दुनिया की पहली बन गई है।

इसे आयोजित करने वाली संस्था सोशल एसेस के प्रमुख लियन डीसूजा ने बताया कि यह उनकी आरम्भ की गई वैश्विक जहीज योजना का  हिस्सा है। इस दरम्यान उन्होंने ग्रीनलैंड को पार कर एक और विश्व रिकॉर्ड अपने नाम बनाया और जब तक वे भारत पहुंचेंगी, अन्य रिकॉर्ड भी अपने नाम कर लेंगी। एलएसए लाइसेंस धारक आरोही और उनकी दोस्त कैथर ने ‘माही’ में भारत से उड़ान भरी थी। माही एक प्रकार का जहाज है।  इसे पिपिस्ट्रेल स्लोवेनिया ने निर्मित किया है और यह भारतीय नगर विमानन महानिदेशालय की तरफ से पंजीकृत करवाया हुआ प्रथम स्पोर्ट्स एयरक्राफ्ट है।

 आरोही ने 30 जुलाई को इसअभियान की शुरुआत अपने सहयोगिय पायलट और अपने दोस्त किथिर मिस्क्विता के साथ मिलकर की थी। इस दरम्यान उन्होंने भारत के पंजाब, राजस्थान, गुजरात और फिर पाकिस्तान, ईरान, तुर्की, सर्बिया, स्लोवेनिया, जर्मनी, फ्रांस और युनाइटेड किंगडम में उडान भरी उसके बाद अकेले उड़न भरकर इतिहास रच दिया। उन्होंने अंटलांटिक महासागर के ऊपर उड़ान भरी और इसके बारे में कहा कि यह एक शानदार अनुभव है. उन्होंने कहा मैं यह सब एक बार फिर से करना चाहूँगी।


Spread the news