सुपौल : छातापुर पुलिस की मनमानी, किशोरी अपहरण कांड के मुख्य आरोपी को न्यायालय में हाजिर करने के बजाय थाने से ही कर दिया मुक्त

728x90
Spread the news

रियाज खान
संवाददाता
भीमपुर, सुपौल

छातापुर/सुपौल/बिहार : सुपौल जिले के छातापुर थाणे की पुलिस अपने कारगुजारियों को लेकर इनदिनों लोगों के बीच चर्चा में है । भीमपुर थाना, पुलिस हिरासत से बीते शुक्रवार को तीन कुख्यात अपराधियों के भाग जाने का मामला अभी ठंढा भी नहीं पड़ा था कि अब छातापुर थाना पुलिस ने पुलिस हिरासत में बंद अपहरण के नामजद मुख्य अभियूक्त को थाना से ही छोड़ दिया है । जिसके कारण आमलोगों के बीच पुलिस की भारी किरकिरी हो रही है ।

पुलिस के इस प्रकार के रवैये से स्पष्ट है कि पुलिस के आला अधिकारियों का अपने ही थानों की पुलिस पर कोई प्रभाव नहीं रह गया है । नतीजतन संगीन और अपराधिक मामलों में भी पुलिस का अपनी डफली और अपना राग ही रहता है । कानुन के रखवाले जब खुद ही कानुन की धज्जियाॅ उड़ाने लगे तो फिर आमजनों की सुरक्षा भगवान भरोसे ही माना जा सकता है ।

जानकारी अनुसार मंगलवार को छातापुर थाना क्षेत्र के सुरजापुर पंचायत के परसा बीरबल गांव से एक 13 वर्षिया किशोरी के अपरहण की घटना हुई थी । मामले में पुलिस ने थाना कांड संख्या 130/19 दर्ज करने के बाद छातापुर पंचायत के नरहैया गांव से नामजद मुख्य अभियूक्त मो इजराईल को गिरफ्तार कर थाना लाइ । जिसके निशानदेही पर अपहृत किशोरी को प्रतापगंज थाना क्षेत्र से बरामद भी कर लिया गया । बताया जाता है कि अपहृता की बरामदगी के बाद मेडिकल व 164 के बयान हेतू उसे सुपौल भेज दिया गया । जबकि हिरासत में रखे गये नामजद मुख्य अभियूक्त को न्यायालय में हाजिर करने के बजाय पुलिस ने पैरवीकारों के दबाव में देररात उसे थाना से ही मूक्त कर दिया ।


Spread the news