पटना : गाला – 2019 कार्यक्रम में रूपम्स नीलांजना के बच्चों ने मचाया धमाल,  कॉमेडियन सुनील पाल के जोक्स पर ठहाकों से गुंजी विधापति भवन

728x90
Spread the news

अनूप ना. सिंह
स्थानीय संपादक

पटना/बिहार : रूपम्स नीलांजना आर्ट ऐकेडमी के दूसरे स्थापना दिवस के उपलक्ष्य में रविवार को विधापति मार्ग स्थित विधापति भवन में गाला – 2019 कार्यक्रम का आयोजन किया गया । कार्यक्रम की विधिवत शुरुआत मुख्य अतिथि पटना की मेयर सीता साहू, विशिस्ट अतिथि देश के जाने – माने कॉमेडियन सुनील पाल, शास्त्रीय गायक रजनीश कुमार व रूपम्स नीलांजना आर्ट ऐकेडमी की निदेशिका रूपम किशोर ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया ।

इसके पश्चात संस्थान के बच्चों द्वारा स्वागत गीत गाकर आगत अतिथिओं का स्वागत किया गया । इसके बाद जगमग रंगीन रौशनी के बीच जैसे ही सुनील पाल ने अपने जादुई आवाज के साथ स्टेज पर दस्तक दिया तो पुरा हॉल तालियों की गरगराहट से गुंज उठा। राजधानिवासिओं का अपने प्रति प्यार और जोश देखकर सुनील पाल ने भी उनका भरपूर अभिवादन किया। सुनील पाल ने जैसे हीं कॉमेडी के तड़के लगाने शुरू किये वैसे हीं हॉल में मौजूद लोगो के ठहाके लगने शुरू होे गए। इसके बाद क्या कहना था, उन्होंने अपने एक से बढकर एक कॉमेडी की प्रस्तुती दी जिसने पटनाइट्स को लोट.पोट कर दिया हंसाते – हंसाते ।
कार्यक्रम के मध्य में गायक रजनीश कुमार ने भी अपनी मखमली आवाज से हॉल में मौजूद दर्शकों को झूमने पर मजबूर कर दिया । एक से बढ़कर एक प्रस्तुति देकर रजनीश ने दर्शकों का भरपूर मनोरंजन किया ।
कार्यक्रम में संस्थान के बच्चों द्वारा लीजेंड अभिनेता राजकपूर को अपने गीतों के माध्यम से श्रद्धांजलि अर्पित की । गाला – 2019 कार्यक्रम में बच्चों द्वारा लाइव पेंटिंग, गीत, कत्थक व क्लासिकल नृत्य, गिटार, ऑर्गन व बैंड के माध्यम से दर्शकों का भरपूर मनोरंजन किया गया । कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण 2 वर्ष की बच्ची द्वारा प्रस्तुत शास्त्रीय गायन रहा जिसे सुन दर्शक भी दंग रह गए । अंतराष्ट्रीय मदर्स डे पर 7 वर्ष की बच्ची द्वारा बिना मिटाये 3 मिनट की लाइव पेंटिंग ने लोगों को अपनी ओर आकर्षित किया । बच्चों द्वारा कई कत्थक एवं शास्त्रीय नृत्य की प्रस्तुति दी गयी जो माताओं को समर्पित थी ।
कार्यक्रम संयोजक रूपम किशोर ने कहा की ऐसे आयोजनों से बच्चों का मनोबल बढ़ता है । हमारी संस्था बच्चों को प्रशिक्षित कर उन्हें ससक्त मंच प्रदान करती है ताकि वो अपने प्रतिभा के बल पर अपना व संस्थान का नाम रोशन कर सकें । रूपम ने बताया की रूपम्स नीलांजना आर्ट ऐकेडमी में डांसिंग, सिंगिंग, गिटार प्लेइंग, ऑर्गन, म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट्स, पेंटिंग आदि की प्रशिक्षण अनुभवी शिक्षक द्वारा सिखाया जाता है ।


Spread the news