मधेपुरा : बिहार में हर स्तर पर भ्रष्टाचार और अफसरशाह हावी -भाकपा

728x90
Spread the news

अमित कुमार
उप संपादक

मधेपुरा/बिहार : बुधवार को प्रधानमंत्री आवास योजना, स्वच्छ भारत मिशन योजना सहित विभिन्न विकास एवं गरीबी उन्मूलन योजनाओं में व्याप्त भ्रष्टाचार के खिलाफ भुमिहीीन को वासगीत पर्चा, वंचितों को पेंशन और आवास, सबको शिक्षा और रोजगार के लिए बुधवार को भाकपा कार्यकर्ताओं ने किया प्रखंड सह अंचल कार्यालय पर हल्ला बोल प्रदर्शन किया ।

भाकपा का जुलूस प्रखंड कार्यालय पहुंचते ही अफरातफरी की स्थिति पैदा हो गई। देखते ही देखते भाकपाइयों ने कार्यालय को अपने कब्जे में ले लिया और कामकाज को बंद कर दिया।
प्रदर्शन का नेतृत्व भाकपा के अंचल मंत्री मो जहांगीर, पार्टी के युवा नेता नवीन कुमार, शंभू क्रांति, दिलीप पटेल, पवन कुमार सुमन एवं अन्य नेताओं ने किया।

प्रखंड कार्यालय परिसर में प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए भाकपा के राष्ट्रीय परिषद के सदस्य प्रमोद प्रभाकर ने कहा कि बिहार में हर स्तर पर भ्रष्टाचार और अफसरशाह हावी है। उन्होंने कहा कि भूमिहीनों को 5 डिसमिल वास की जमीन देने की सरकारी घोषणा ढाक के तीन पात साबित हुई। दलित, महादलित, अकलियत एवं कमजोर वर्ग के लोग जानवर की जिंदगी जीने को विवश है। यह अंचल कार्यालय लूट का अड्डा बन चुका है। बिना पैसा का कोई काम नहीं होता। आवास, शौचालय एवं पेंशन जैसे कामों में पर्यवेक्षक एवं सहायक द्वारा परेशान किया जाता है। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार पर रोक लगाई जाए अन्यथा शोषित और पीड़ित जग गया तो खैर नहीं।
भाकपा के जिला मंत्री विद्याधर मुखिया, वरीय नेता रमन कुमार, युवा नेता संभू क्रांति ने पंचायत वार भूमिहीन एवं गरीबों का सर्वेक्षण कराने, सभी भूमिहीनों को वासगीत पर्चा देने, वंचितों को आवास देने, किसानों को ऋण माफ करने की मांग की।
भाकपा के अंचल मंत्री मो जहांगीर ने बुधमा गौशाला की जमीन में वर्षों से बसे भूमिहीनों को वासगीत पर्चा देने, वंचित गरीबों को बीपीएल सूची में शामिल करने, राशन किरासन और पेंशन देने की मांग की।
एटक जिला संयोजक वीरेंद्र नारायण सिंह, भाकपा नेता दिलीप पटेल, पवन कुमार सुमन, बूटीश स्वर्णकार, छात्र नेता वसीमउद्दीन उर्फ नन्हें, सौरव कुमार, युवा नेता मो गफ्फार, मो सकुरउद्दीन, मो सनाउल्लाह, चंदेश्वरी ऋषिदेव, छेदी ऋषिदेव, जगधर राम, मो सैफुल्लाह, मो मुस्तफा, मो एबादत, राम सेवक यादव, रामाश्रय राम, मो अयूब, मनोज भगत, टुनटुन मुखिया, दिनेश मुखिया, संजय भगत सहित बड़ी संख्या में भाकपा नेता कार्यकर्ता शामिल थे. अंत में उन्होंने 13 सूत्री मांगों का मांग पत्र वीडियो को सौंपा।


Spread the news