मधेपुरा : झूठ और फरेब की सरकार है, वर्तमान केंद्र और राज्य की सरकार-प्रमोद प्रभाकर

728x90
Spread the news

अमित कुमार
उप संपादक

मधेपुरा/बिहार : बुधवार को मधेपुरा जिला सहित संपूर्ण बिहार में लगातार हो रहे हत्या, लूट, अपहरण एवं बलात्कार के खिलाफ एवं केंद्रीय ट्रेड यूनियनों के दो दिवसीय अखिल भारतीय आम हड़ताल के समर्थन में वामदलों के आह्वान पर बिहार बंद का मधेपुरा में व्यापक असर रहा। मधेपुरा शहर सहित जिले के कई स्थानों पर बंद समर्थकों ने सड़क जाम कर यातायात ठप कर दिया, दुकानें बंद रही, बैंक, डाक संचार, एलआईसी एवं बिजली कार्यालय बंद रहे। मधेपुरा प्रखंड कार्यालय को भी बंद समर्थकों ने बाधित किया।
मधेपुरा में सुबह से ही भाकपा, माकपा एवं भाकपा माले के कार्यकर्ताओं ने बाइक जुलूस निकालकर बंद की अपील करते केंद्र व राज्य सरकार के मजदूर किसान छात्र नौजवान एवं कर्मचारी विरोधी नीति के खिलाफ नारेबाजी करते रहे। फिर कर्पुरी चौक, कॉलेज चौक पर बंद समर्थक वामपंथी कार्यकर्ताओं ने एनएच 107 एवं एनएच 106 को घंटों ठप रखा।
बंद का नेतृत्व भाजपा के राष्ट्रीय परिषद के सदस्य प्रमोद प्रभाकर, जिला मंत्री विद्याधर मुखिया, माकपा के जिला मंत्री मनोरंजन सिंह, राज्य कमेटी सदस्य गणेश मानव, भाकपा माले के जिला संयोजक रामचंद्र दास, प्रांतीय नेता पंकज कुमार सिंह, किसान नेता रमन कुमार, कृष्ण कुमार यादव, युवा नेता संभू क्रांति एवं छात्र नेता वसीम उद्दीन उर्फ नन्हें कर रहे थे।
इस अवसर पर कर्पुरी चौक पर बंद समर्थकों एवं उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए भाकपा के राष्ट्रीय परिषद के सदस्य प्रमोद प्रभाकर ने कहा कि केंद्र व राज्य की सरकार झूठ और फरेब की सरकार है। आजाद भारत के सबसे निकम्मी व निर्लज सरकार है। 

उन्होंने कहा कि अपराध उद्योग बन गया है, शिक्षा व्यवसाय बन गया, डीजल और पेट्रोल महंगी हुई, मां बहनों के इज्जत, आबरू सबसे सस्ती हो गई है, किसान और नौजवान बदहाल हुआ, सरकारी कर्मी के अधिकारियों का हनन हुआ, आंगनवाड़ी आशा एवं रसोईया का जीना दूभर हुआ तो अच्छे दिन किसके आए. उन्होंने कहा कि यह सरकार कारपोरेट पक्षी एवं आम जन विरोधी है. इसे बने रहने का अधिकार नहीं।
माकपा के राज्य कमेटी सदस्य गणेश मानव एवं जिला मंत्री मनोरंजन सिंह ने कहा कि देश में किसान और नौजवान आत्महत्या कर रहे हैं। मजदूरों की छंटनी हो रही है। सार्वजनिक क्षेत्र को धड़ल्ले से बेचा जा रहा है, रोजगार विहीन विकास के बात करने वाली सरकार को उखाड़ फेंकने का आह्वान करते हैं।
भाकपा माले के जिला संयोजक रामचंद्र दास ने कहा कि देश में जुमले बाजों की सरकार है। इन्हें किसान मजदूर से प्यार नहीं. अदानी, अंबानी, विजय माल्या एवं नीरव मोदी से है. यह देश बेचने वाले एवं देश बांटने वाले हैं। हमें जनहित और देश हित में संघर्ष तेज करना होगा।
सभा को भाकपा के वरीय नेता रमन कुमार, वीरेंद्र ना सिंह, ललन कुमार मंडल, दिलीप पटेल, कृतनारायण रजक, भागवत मंडल, मनोज भगत, भाकपा माले के शंभू शरण भारतीय ने कहा कि भाजपा हटाओ देश बचाओ।

 बंद को लोकतांत्रिक जनता दल के प्रांतीय उपाध्यक्ष एवं पूर्व विधायक परमेश्वरी प्रसाद निराला, राजद के वरीय उपाध्यक्ष बिजेंद्र प्रसाद यादव एवं रामकृष्ण यादव, हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा जिला अध्यक्ष किशोर कुमार मुन्ना, उपाध्यक्ष शिव कुमार, चंदन ऋषिदेव अपने दर्जनों साथियों के साथ बंद के समर्थन में सड़क पर उतरे. इन नेताओं ने केंद्र व राज्य सरकार के खिलाफ संघर्ष तेज करने का आह्वान किया।
मौके पर भाकपा माले के सीताराम रजक, सुभाष मलिक, बेचन मंडल, दीप नारायण मंडल, चंदेश्वरी मंडल, संजय मलिक, कमोदिया देवी, शकुंतला देवी, अमेरिका देवी, नेता मोहन सिंह, रणजीत सिंह, अशोक साह, टुनटुन मुखिया, बूटीश स्वर्णकार, मो सनाउल्लाह, संजय भगत, दिनेश मुखिया, जगधार राम, सौरभ कुमार, पवन कुमार सुमन, कामेश्वर पासवान, सच्चिदानंद, चंद्रदेव मंडल, मो गफ्फार, चंदेश्वरी ऋषिदेव, मो एबादत, माकपा नेता चंद्र किशोर यादव, विमल विद्रोही, राजदीप कुमार यादव, रोशन कुमार, अनिल यादव, दीपक कुमार, विजय यादव, चंद्र नारायण यादव, अभिमन्यु कुमार, अमित कुमार, ओम प्रकाश कुमार, हम के नेता संतोष कुमार राम, अरविंद कुमार ऋषिदेव, राजकुमार ऋषिदेव, रामफल ऋषिदेव, ध्रुव नारायण ऋषिदेव, योगेंद्र ऋषिदेव, नंदन राम, दयाराम साह, दयानंद ऋषिदेव, अंकित कुमार एवं अन्य नेताओं ने बंद को पूरी तरह सफल बनाया।


Spread the news