नालंदा में देशव्यापी आम हड़ताल को लेकर बैंको, डाकघरों और कई कार्यालयों में लटके ताले, राष्ट्रीय राज्य मार्ग जाम

728x90
Spread the news

मो0 मुर्शीद आलम
ब्यूरो, नालंदा

नालंदा/ बिहार :  ट्रेड यूनियन के अहवान पर देशव्यापी आम हड़ताल नालंदा में व्यापक असर। सभी डाकघरों, सरकारी एवं गैर सरकारी बैंकों, कुरियर सेवा इत्यादि कार्यालय में कार्य पूरी तरह ठप रहा  और दरवाजे पर ताला लटके दिखाई दिए ।

जिला मुख्यालय बिहार शरीफ के श्रम कल्याण केंद्र मैदान में सभी संगठनों के कार्यकर्ता इकट्ठा होकर पूरे शहर में प्रदर्शन, जुलूस धरना का कार्य किया। जबकि आशा बाड़ी रसोईया संघ ने रांची पटना राष्ट्रीय रज्य मार्ग को पूरी तरह मामू भागना पहाड़ के पास जाम कर अस्त-व्यस्त कर दिया। जिससे दोनों तरफ सैकड़ों गाड़ियों की लंबी कतारें लग गई। आंगनबाड़ी सेविकाओं की संख्या लगभग 5 हजार से भी अधिक थी। बिहार राज आंगनबाड़ी कर्मचारी यूनियन के अध्यक्ष अमित कुमार पासवान ने कहा 5 दिसंबर 2018 से सेविका ने 15 सूत्री मांगों को लेकर अपना संघर्ष कर रही है लेकिन सरकार के पास विचार करने का समय नहीं है।

इस अवसर पर आंगनबाड़ी के संघर्ष समिति जिला अध्यक्ष आशा कुमारी ने कहा अगर हमारी मांगे पूरा नहीं होगी तो आंदोलन को और तेज किया जाएगा। और हम लोग जूता पालिश करने के लिए बैठ जाएंगे। इस अवसर पर नगरनौसा के अध्यक्ष रूबी कुमारी, हिलसा की अध्यक्ष मीरा कुमारी ,सुनीता कुमारी के अलावा पूरे जिला के सभी प्रखंड अध्यक्ष मौजूद थे। बिहार चिकित्सा एवं जन स्वास्थ्य कर्मचारी संघ ने भी शहर में प्रदर्शन किया।

संयोजक गौरव कुमार ने कहा हमारी मांगे जब तक पूरी नहीं होगी तब तक हम लोग अपना आंदोलन करते रहेंगे और आंदोलन को धारदार बनाएंगे। मुख्य मांगे में आउटसोर्सिंग के तहत कार्यरत डाटा एंट्री ऑपरेटर के बकाये भुगतान की भी मांग रखी। ऑल इंडिया सेंट्रल काउंसिल ऑफ ट्रेड यूनियन ने भी शहर में मार्च निकालकर जिलाधिकारी के समक्ष प्रदर्शन किया। एक्टू के नेता राज किशोर शर्मा ने कहा कि हमारी प्रमुख मांगों को अगर जल्द स्वीकार नहीं किया गया तो आंदोलन को और तेज किया जाएगा ।

इस प्रदर्शन में एटक, सीटू ,ऐपटू ,इंटरव्यू ,सीसीसी आर पीएफ ,यू सी एच, एम एस ए आई सी एवं स्वतंत्र फाउंडेशन ने इस प्रदर्शन में भाग लिया। बिहार आंगनबाड़ी कर्मचारी संघ ने भी जोरदार प्रदर्शन करते हुए पूरे शहर में जुलूस निकाला। आंगनबाड़ी के जिला अध्यक्ष आशा कुमारी ने कहा कि हमारी मांगे जो है इस पर सरकार तत्काल ध्यान दे वरना हमारी आंदोलन और भी तेज किया जाएगा । हमें कम से कम 18000 का मासिक वेतन ₹3000 मनोदय और मुख्यमंत्री द्वारा महोदय में ₹15 सौ की बढ़ोतरी की जाए। राज्य सरकार ने उसी बढ़ोतरी को अपने कैबिनेट मंजूरी देकर ₹750 अतिरिक्त राशि देने की भी मांग की

इस अवसर पर पुष्प लता सिन्हा, श्वेता कुमारी, साफिया हैदरी ,नसरीन खातून, सोहेला खातून, सोनी कुमारी ,देसी अंशु कुमारी के अलावे सैकड़ों की तादाद में आंगनबाड़ी सेविका कार्यकर्ता मौजूद थी।

कुल मिलकर देशव्यापी आम हड़ताल को लेकर शहर में आम जनता को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा कई बार जरूर सर प्रदर्शन के कारण भयानक जाम का भी दृश्य देखने को मिला।


Spread the news