सहरसा : लगातार हो रही हत्याओं से लोगों का गुस्सा फूटा, अगजनी कर पुलिस प्रशासन के खिलाप की नारेबाजी

728x90
Spread the news

सहरसा राजा कुमार की रिपोर्ट—
सहरसा/बिहार : शहर में लगातार हो रही हत्याओं से पुलिस प्रशासन के प्रति स्थानीय लोगों में काफी गुस्सा देखने को मिल रहा है, शनिवार को  सदर थाना क्षेत्र के डुमरैल चौक पर हत्या के विरोध में   NH-107 पर आक्रोशित लोगों ने जामकर आगजनी कर पुलिस प्रशासन के खिलाप नारेबाजी की।

प्राप्त जानकारी अनुसार सहरसा-मधेपुरा मुख्यमार्ग सड़क के डुमरैल चौक पर शनिवार के दिन आक्रोशित लोगों ने हत्यारे की गिरफ्तारी की मांग को लेकर आगजनी कर यातायात बाधित किया। यातायात बाधित होने की सूचना मिलने पर एसडीपीओ प्रभाकर तिवारी, सदर थाना अध्यक्ष राकेश सिंह अपने दल- बल के साथ मौके पर पहुंचकर आक्रोशित लोगों को जाम हटाने की अपील की।

मालूम हो कि शुक्रवार की देर शाम अपराधियों ने सहरसा बस्ती निवासी मो. चाँद नामक युवक को मारी थी गोली ।परिजनों के द्वारा घायल अवस्था में मो. चाँद को इलाज के लिए सदर अस्पताल भर्ती कराया गया था, जहां इलाज के दौरान उसकी शुक्रवार की देर शाम मौत हो गई।

जानकारी के मुताबिक मृतक युवक टेम्पू चलाता था। सहरसा बस्ती के ही रहनेवाले अपराधी मो0 सिटी बराबर उससे रंगदारी मांगता था। रंगदारी मांगने पर मो. चाँद ने अपनी गरीबी का हवाला देकर कहा कि वह रंगदारी देने की स्थिति में नहीं है।

बताना लाजमी है कि सहरसा में अपराधियों का कहर सातवां आसमान को छू लिया, ना जाने कब किस मां की कोख और कब किस पत्नी की मांग सुनी हो जाए यह कहना मुश्किल है। सहरसा जिला कोशी प्रमंडल का मुख्यालय जहां डीआईजी बैठते ओर यहां यदि इस तरह की घटना होती है,तो बहुत ही शर्मनाक बात है।

इधर इस घटना को लेकर पुलिस प्रशासन काफी सजग दिखाई दी रही है, सभी चौक-चौराहे पर पुलिस जवान की तैनात कर दी गई है ।

बहरहाल प्रदर्शनकारियों ने कहा कि शहर में एक के बाद एक अपराधिक घटना प्रशासन की कमजोरी का परिणाम है। आए दिन ये घटना खुलेआम घट रही है। लेकिन सहरसा पुलिस सजग नहीं होती है। इसलिए दिन-ब-दिन गोलीबारी और हत्या जैसी घटनाएं होती रहती है। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि आज सुबह से ही हम लोग सड़क पर बैठे हुए हैं बावजूद इसके मृतक के परिजन को मुआवजा नहीं मिला, काफी देर के बाद प्रशासन के लोग प्रदर्शन स्थल पर पहुंचकर 20 हज़ार का चेक देकर इस जाम को हटाने को कहा, लेकिन जबतक हम लोगों के समस्या का समाधान नहीं होगा तबतक हम लोग इसी तरह जाम कर रखेंगे।

मौके पर एसडीपीओ प्रभाकर तिवारी ने कहा कि आक्रोशित लोगों ने अभियुक्त की गिरफ्तारी और मुआवजे की मांग को लेकर यातायात बाधित किया हैं, उन्होंने कहा कि जो भी इस घटना में शामिल हैं उन्हें बहुत जल्द गिरफ्तारी किया जाएगा, मुख्य अभियुक्त के अलावे में भी जो भी इस घटना में शामिल है चिन्हित करके उनकी  गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है, जल्द ही सभी अभियुक्त सलाखों के पीछे होंगे।

 बहरहाल वरीय पदाधिकारियों के निर्देशानुसार कहरा बीडीओ ने मृतक के पिता को तत्काल 20 हजार रुपये सहायता राशि तथा हरसंभव मदद देने का आश्वासन पर देकर जाम को समाप्त कराया।


Spread the news