दरभंगा :  पुलिस महकमे के आला अधिकारियों ने दिया अपना अपना योगदान, सिस्टम को सुधारने की कही बाते

728x90
Spread the news

 

ज़ाहिद  अनवर (राजु)
उप संपादक

दरभंगा/बिहार : शुक्रवार को दरभंगा ज़िला के दो वरीय पुलिस अधिकारियों ने अपना पदभार ग्रहण कर लिया। प्राप्त सूचना के अनुसार दरभंगा के नये वरीय पुलिस अधीक्षक के रूप में 2009 बैंच के तेज तर्रार आईपीएस बाबू राम ने अपना पदभार ग्रहण कर लिया।

पदभार ग्रहण करने के बाद उन्होंने कहा कि क्राईम कंट्रोल के साथ ही लंबित कांडों के निष्पादन, फरार अपराधियों की गिरफ्तारी और शांति व्यवस्था बनाये रखना उनकी प्राथमिकताओं में शामिल है। उन्होंने कहा कि अपराध नियंत्रण और समाज में शांति व्यवस्था बनाये रखने के लिए आम जनता का सहायोग लिया जायेगा। साथ ही जिले में साईबर सेनानी का गठन सहायक थाना स्तर तक किया जायेगा। गौरतलब हो कि बाबू राम दरभंगा ज़िला से पूर्व से परिचित है। वे मधुबनी के झंझापुर में एएसपी भी रह चुके है। जब समस्तीपुर के पुलिस कप्तान थे तो तारालाही में भी अभियुक्त को पकड़ने के लिए पहुंचे थे और लहरियासराय थाना को कैंप बनाकर वहां रुके थे।

वहीं औरंगाबाद में 3 महीने के एसपी के पद पर रहते हुए उन्होंने नक्सलियों के ऊपर पूरी तरीके से नकेल कस दिया था। दरभंगा वासियों को इनसे पूरी उम्मीदे है। उधर दूसरी तरफ दरभंगा प्रमण्डल के 37वे पुलिस उप महानिरीक्षक पद पर गुरूवार को क्षत्रनील सिंह ने पदभार ग्रहण किया। श्री सिंह सन् 2009 बैंच के आईपीएस अधिकारी हैं। उन्होंने अपनी प्राथमिकताएं बताते हुए कहा कि केवल औपचारिक कारवाई से काम नहीं चलेगा बल्कि कारवाई ऐसी होनी चाहिए कि पीड़ित पूरी तरह से पुलिस से संतुष्ट हों।

उन्होंने कहा कि कानून व्यवस्था को चुस्त-दुरूस्त और आम जनता के साथ नजदिकिया बनाते हुए पीड़ितों को न्याय दिलाना उनकी प्राथमिकता होंगी। उन्होंने कहा कि थानों पर फरियादियों के शिकायत नहीं सुनने वाले थानोदारो पर कारवाई की जायेगी। अपराधियों को जेल भेजना और आम जनता के साथ पुलिस का दोस्ताना संबंध प्राथमिकता में शामिल हैं।


Spread the news