दरभंगा :  वामदलों ने दरभंगा में बढ़ते अपराध और हत्या के खिलाफ किया हल्ला बोल, सरकार के खिलाफ 9 जनवरी को होगा दरभंगा बंद 

728x90
Spread the news

ज़ाहिद  अनवर (राजु)
उप संपादक

दरभंगा/बिहार : बढ़ते अपराध, हत्या और हत्यारों को संरक्षण देने के खिलाफ वामदलों ने दरभंगा टॉवर पर गांधी मूर्ति के समक्ष संयुक्त धरना का आयोजन किया। धरना का नेतृत्व सीपीआई के जिला सचिव नारायणजी झा, सीपीआई (एम) के जिला सचिव अविनाश कु0 ठाकुर” मंटू ठाकुर और भाकपा (माले) के जिला सचिव बैद्यनाथ यादव ने किया।

धरना के दौरान आयोजित सभा की अध्यक्षता रामकेवल ठाकुर, चंदेश्वर सिंह और भूषण मंडल की तीन सदस्यीय अध्यक्षमंडल ने किया। सभा को संबोधित करते हुए वामदल के नेताओं ने कहा कि सुशासन की सरकार आज जंगल व जल्लाद राज साबित हो रहा हैं। आज सत्ता सरकार के सरक्षंण में अपराधियों का मनोबल बढ़ा हैं। दरभंगा शहर में आम नागरिक, पत्रकार सुरक्षित नहीं हैं। वामपंथी नेताओं ने सुनील राय की हत्या में नगर विधायक संजय सरावगी की संलिप्तता व हत्यारे के साथ उनके रिश्ते की जांच की मांग किया। वामपंथी नेताओं ने मांग किया कि दरभंगा शहर में तालाब-पोखरों की भू माफियाओं के जरिये हो रही कब्जे में नगर विधायक की संलिप्तता की जांच विधान सभा की सर्वदलीय कमिटी से कराया जाय ताकि सही जांच हो।

सभा में वामदलों ने शहर के आम नागरिकों से अपील किया कि बढ़ते अपराध, हत्या, भू-माफियाओं के खिलाफ और तालाब-पोखरों को बचाने के लिए नागरिक आंदोलन खड़ा करें। सभा को भाकपा(माले) जिला सचिव बैद्यनाथ यादव, अभिषेक कुमार, इंसाफ मंच के नेयाज अहमद, नगर सचिव सदीक भारती, सोनू यादव, सीपीआई के जिला सचिव नारायणजी झा, सुधीर कुमार साह, मो तमन्ने, किसान सभा के जिलाध्यक्ष राजीव चौधरी, विश्वनाथ मिश्रा, एआईएसफ जिला सचिव शरद कुमार सिंह, सीपीआईएम के जिला सचिव अविनाश ठाकुर’ मंटू ठाकुर, श्याम भारती, दिलीप भगत, गोपाल ठाकुर, विद्या देवी, अविनाश झा, रामसागर पासवान, एमसीपीआई के निरंजन सिंह, माले के जिला कमिटी सदस्य धर्मेश यादव, ऐक्टू के जिला उपाध्यक्ष राम नारायण पासवान” भोलाजी, इंसाफ मंच के लक्ष्मण पासवान, प्रो हृकेष झा, ऐपवा की रीता देवी, सीपीआई के आशुतोष मिश्र, हरेश सिंह, श्यामा देवी, शिवकुमार सिंह, रामवृक्ष यादव आदि ने सभा को सबोधित किया।

धरना से प्रस्ताव पारित करते हुए 8-9 जनवरी के मज़दूर हड़ताल में सक्रिय सहयोग करने का आह्वान करते हुए और 9 जनवरी को बढ़ते अपराध, हत्या के खिलाफ दरभंगा बंद का आह्वान किया गया। सभा से दरभंगा के आईजी से मांग किया कि थाना और अंचल मिलकर कितने भूमि विवाद प्रति महीने में हल किया उसकी रिपोर्ट को सार्वजनिक किया जाय।


Spread the news