नालंदा : आशा कार्यकर्ताओं ने की अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल

728x90
Spread the news

मो0 मुर्शीद आलम
ब्यूरो, नालंदा

नालंदा/बिहार : जिले में आशा बहनें की हड़ताल खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है । यह कार्यक्रम पूरे बिहार में आशा कार्यकर्ताओं के द्वारा चलाया जा रहा है । बुधवार को जिले के इस्लामपुर और हरनौत में प्राथमिकी स्वास्थ्य केंद्र कार्यालय पर आशा बहने ने अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल की ।

इस मौके पर इस्लामपुर प्रखंड के अध्यक्ष निर्मला कुमारी ने कहा कि जब तक हमारी 12 सूत्री मांगों पर विचार नहीं होता तब तक हम कार्य का बहिष्कार करते रहेंगे और हमारा आंदोलन जारी रहेगा । उन्होंने कहा की हमें सरकारी नौकरी का दर्जा दिया जाए । 18000 का मनोदे दिया जाए । शिक्षित आशा बहनों को एएनएम की ट्रेनिंग दी जाए। इत्यादि मांगों पर हमारा आंदोलन जारी रहेगा ।

उन्होंने बिहार सरकार और केंद्र सरकार पर आरोप लगाया कि पूरे बिहार राज्य में आशा बहनें की चल रही है मगर आंदोलन पर एक चपरासी भी पूछने नहीं आया है। यह सरकार की हठधर्मि है।

इस मौके पर सैकड़ों की तादाद में आशा बहने भूख हड़ताल पर बैठी थी। जिसमें सुनीता सिन्हा, अरुणा देवी , इंदु कुमारी , देवी कुमारी, मीना कुमारी , देवती देवी के अलावे काफी संख्या में आशा बढ़ने ने इस्लामपुर प्रखंड और हरनौत प्रखंड में भूख हड़ताल शुरू की।


Spread the news