दरभंगा : सरकार के अड़ियल रवैये से परेशान आशा-ममता कर्मी गई भूख हड़ताल पर

728x90
Spread the news

मनीगाछी से पंकज कुमार की रिपोर्ट

मनीगाछी/दरभंगा/बिहार : बिहार राज्य आशा कोरियर कार्यकर्ता संघ के बैनर तले आशा-ममता आज से भूख हड़ताल पर चली गई है। गौरतलब हो कि एक दिसम्बर से आशा-ममता कार्यकर्ता 12 सूत्री मांग को लेकर अनिश्चितकालीन हड़ताल के बाद बुधवार को सभी आशा-ममता कर्मी प्रखण्ड संघ अध्यक्ष समुद्री देवी के अध्यक्षता में भूख हड़ताल पर बैठी।

आशा-ममता कार्यकर्ता ने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के समक्ष धरना प्रदर्शन कर वर्तमान सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए कहा कि एक तरफ महिला हितैषी होने का दावा करने वाली सरकार के राज में कार्यरत सभी ग्रामीण स्वास्थ्य महिला कर्मियो के साथ नाइंसाफी कर रही है। सभी आशा-ममता कर्मी ने कहा कि सरकार के तरफ से जब तक कोई निर्णय नही मिलता तब तक भूख हड़ताल जारी रहेगी। आखिर सरकार इन आशा-ममता की मांग पर विचार क्यो नही कर रही है? चुप रहने से क्या सभी आशा-ममता की समस्या का समाधान हो जाएगा। सरकार इसी तरह से चुप रहेगी तो आने वाले चुनाव में इसका क्या प्रभाव पड़ेगा ये सभी भली भांति जानते है? अब देखना यह है कि सरकार कब तक चुप रहती है।

मौके पर जिलाध्यक्ष रामाकांत यादव, जया रानी, बबीता देवी, सावित्री देवी, ललिता देवी, सुनैना देवी, रेखा देवी, पुनम देवी, खुर्शीदा खातुन, नीलम देवी सहित सभी आशा-ममता उपस्थित थी।


Spread the news