दरभंगा : अभिभावकों की लापरवाही की वजह से लड़के और लड़कियां पढ़ाई के आड़ में कर रही है मटरगश्ती

728x90
Spread the news

ज़ाहिद  अनवर (राजु)
उप संपादक

दरभंगा/बिहार : हमारे समाज मे हमेशा से माना जाता रहा है कि जब जब घर और परिवार के अभिभावक अपनी ज़िम्मेदारी को बखूबी निभाते आए है तब तक उन्हें परेशानी और दिक्कतों का सामना नही करना पड़ा है। लेकिन थोड़ी सी चूक उनके और उनके पूरे परिवार के लिए शर्मिंदगी की वजह बन जाती है।

ऐसा ही कारनामा इनदिनों देखने और सुनने को मिल रहा है। एपीएम थाना अंतर्गत शिक्षा जगत की हृदयस्थली मानी जाने वाली मशहूर जगह आनन्दपुर चौक इनदिनों चर्चाओ का विषय बनता जा रहा है। किसी युग मे इसकी पहचान सिर्फ एजुकेशन हब के रूप में हुआ करता था लेकिन आजकल लड़के और लड़कियों के मटरगश्ती का अड्डा भी बनता जा रहा है। उन लड़के और लड़कियों के अभिभावकों ने यहाँ अपनी ज़िम्मेदारी निभाना बंद कर दिया है जिसके कारण आए दिन लड़कियों का किसी लड़के के साथ भाग जाना आम बात हो गया है।

लेकिन ज़रा गौर से सोचने का विषय है कि आखिर हम अपने आने वाली पीढ़ी को क्या संदेश दे रहे है? क्या ये समाज के बुद्धिजीवियों की ज़िम्मेदारी नही है कि इस तरह के बन रहे माहौल को रोका जाए। अगर वक़्त रहते हुए इस ओर कोई ठोस कदम नही उठाया गया तो लड़के लड़कियों का भागना आम बात हो जाएगा। इसके अलावा कई और ऐसे संवेदनशील मुद्दे है जो यहाँ के लड़के लड़कियों द्वारा पढ़ाई के नाम पर समाज को दूषित कर रहे है। अभी हाल ही में आस पास के दो मुस्लिमो गाँव की आबादी में ये मामले बढ़ते जा रहे है जिससे बेखबर लोग अपनी बर्बादी को निमंत्रण दे रहे है। अब इसकी वजह कुछ भी हो लेकिन कम से कम इतनी खबर लेते रहना चाहिए की आखिर हमारे बच्चे के पढ़ने का क्या समय है, कितने बजे उन्हें लौट कर आनी चाहिए और कितने बजे आ रहे है, उनका मोबाइल को चेक करते रहना की आखिर इसके मोबाइल पर किन लोगों का फोन आता है आदि आदि। बहरहाल मुद्दे तो बहुत सारे है जिन्हें हिन्द टीवी 24 परत दर परत साक्ष्य के साथ इसका खुलासा करती रहेगी ताकि हमारे समाज के बुद्धिजीवियों की अंतरात्मा जाग जाए और समाज को सही दिशा देने में अपना पूर्ण सहयोग दे।


Spread the news