वैशाली : अपराधियों ने एक व्यवसायी की गोली मारकर की हत्या, दो युवक का अपहरण कर हुए फरार   

728x90
Spread the news

नसीम रब्बानी
ब्यूरो चीफ
वैशाली

वैशाली/बिहार :  जिला अंतर्गत जन्दाहा थाना क्षेत्र के डीह बूचौली गांव में, गुरुवार की रात में अपराधियों द्वारा गोली मारकर हत्या के बाद “माओवादी जिंदाबाद” के नारे लगाते हुए बाइक से भागने के दौरान, खेत से पटवन कर लौट रहे युवक को अपने कब्जे में लेकर भाग निकला था । जिसका घटना के 18 घंटे बाद कहीं अता-पता नहीं है। परिजन एवं ग्रामीणों को संदेशा है कि अपराधी कहीं उसकी भी हत्या कर कहीं फेंक दिया होगा।

हालांकि घटना की सूचना पर महुआ सहायक पुलिस अधीक्षक मुंद्रिका प्रसाद जंदाहा थाना अध्यक्ष सरफराज अहमद एवं पातेपुर थाना अध्यक्ष के अलावा भारी संख्या में एसएसबी के जवान अपहृत दोनों युवक की बरामदगी के लिए संभावित जगहों पर सर्च अभियान चला रही है। इसके लिए डॉग एस्कॉर्ट भी बुलाया गया है । दबी जुबान गांव में यह भी चर्चा है कि अपराधी द्वारा मृतक के चाचा को भी गोली मारा गया था। जिसे इलाज के लिए पटना लेकर आता उनकी भी मौत की खबर सुनने को मिल रहा है । खबर लिखे जाने तक पुलिस सर्च अभियान में ही लगी थी।

शुक्रवार की सुबह उनके घर पर लोगों की काफी संख्या में भीड़ थी । घर में मृतक ऋषिकेश की पत्नी बेहोश रीता देवी थी, होश में आने पर वह एक ही बात कह रही थी, कि अगर वह हमारी बात मान लेते और घर से बाहर निकलकर गेट नहीं खोलने जाते तो उनकी हत्या नहीं होती ।

बताया गया कि मृतक की पत्नी रीता देवी उससे दरवाजे के बाहर से बुलाने की आवाज सुनी तो वह कह रही थी कि आप बाहर नहीं जाइए । बाहर बहुत लोग सड़क पर है और सभी सिगरेट पी रहा है और चहल कदमी कर रहा है । बताया गया कि मृतक ऋषिकेश रात में खाना खा रहा था । इसी दौरान 5 -6 लोग दरवाजे पर आकर आवाज लगाया, भाई जरा बाहर आओ पानी लेना है।

मृतक ओम पेयजल आरओ का पानी की आपूर्ति एवं प्लास्टिक प्लेट बनाने का काम करता था। वह बेहद मेहनती युवक था उसे अपने व्यवसाय के अलावा किसी राजनीति से मतलब नहीं रखता था। वह तीन भाई में सबसे छोटा है। उसे एक पुत्र ओमप्रकाश 12 साल दो पुत्री क्रमशः 10 वर्ष की बंदना और 7 साल की चंचला है। बड़ा भाई गौरी शंकर झा जो प्रदेश में रहता है । इधर गांव में एक और दहशत है वहीं दूसरी ओर एक और साधारण व्यवसाई की हत्या लोगों को समझ से परे है। कुछ लोग हत्या के पीछे लंबे समय से चली आ रही भूमि विवाद बता रहे है ।वहीं कुछ लोग माओवादी करवाई से भी इंकार नहीं करते हैं। हालांकि सर्च अभियान के दौरान डीह बूचौली से पुलिस ने 4 लोगों को हिरासत में ले रखी है। अपहृत महिसौर निवासी रमेश झा एवं रंजीत सिंह उर्फ टुनटुन सिंह की बरामदगी नहीं होने पर वे लोग अनहोनी की आशंका से त्रस्त है । खबर भेजने तक कोई प्राथमिकी दर्ज नहीं हुई है।


Spread the news