मधेपुरा : रंजन हत्या कांड के मुख्य गवाह की जहर खाने से मौत, हत्या या आत्महत्या ?

728x90
Spread the news

मिथिलेश कुमार
संवाददाता
मुरलीगंज, मधेपुरा

मुरलीगंज/मधेपुरा/बिहार : जहर खाने से एक व्यक्ति की मौत होने का मामला सामने आया है। प्रथमदृष्टया मामला आत्महत्या का बताया गया है। पुलिस हत्या मामले के हरेक बिन्दुओ पर गहन छानबीन कर रही है। बताया गया कि रघुनाथपुर पंचायत के वार्ड 7 निवासी बमशंकर ठाकुर (पंडित) द्वारा सोमवार को जहर खा लिया। बेहोशी की हालात में परिजनों ने इलाज के लिए पीएचसी लाया। जहां सूचना मिलने पर पुलिस भी पहुंची और पंडित से जानकारी लेने की कोशिश की। लेकिन बेहोशी के अवस्था में रहने के कारण कुछ भी बोलने में असमर्थ थे। डाॅक्टर ने स्थिति नाजुक देख सदर अस्पताल रेफर कर दिया।  जहाँ से बेहतर इलाज के लिए डीएमसीएच रेफर किया गया।

इस दौरान रास्ते में हीं बमशंकर ठाकुर दम तोड़ दिया। शव को घर लेकर आने के बाद पहुंची पुलिस ने परिजनों से घटना के संबंध में पूछताछ कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। परिजनों का कहना है कि आत्महत्या किया है। लेकिन आत्महत्या करने की कारण नहीं बताए। थानाध्यक्ष सह इंस्पेक्टर प्रशांत कुमार ने बताया कि घटना का कारण स्पष्ट नहीं हो पायी है। लेकिन ऐसा लगता है कि किसी के में दबाव में आत्महत्या किया है।
मालूम हो कि 23 मार्च 18 को भेलाही वार्ड 7 में घर सोए हुए युवक रंजन कुमार उर्फ छोटू 22 वर्ष की हत्या हुई थी। इस हत्या के बाद पुलिस ने कई बार बमशंकर ठाकुर को पूछताछ के लिए थाना बुलाया था। सूत्र बताते हैं कि रंजन हत्या कांड में बमशंकर मुख्य गवाह थे। शायद इन पर किसी व्यक्ति विशेष के पक्ष में गवाही देने का दबाव दिया जा रहा था। आत्महत्या करने का कारण यह भी हो सकता है।


Spread the news