किशनगंज : बच्चे देश के भविष्य, बच्चों के साथ खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं – कुमार आशीष

728x90
Spread the news

शशिकान्त झा
वरीय उप संपादक

किशनगंज/बिहार : पुलिस अधीक्षक कार्यालय में मानव व्यापार, बंधुआ मजदूर, बाल विवाह, दहेज प्रथा तथा महिला सशक्तिकरण विषय पर एक दिवसीय कार्यशाला सह परिचर्चा का आयोजन किया गया। इस दौरान पुलिस अधीक्षक कुमार आशीष ने कहा बच्चे देश के भविष्य इसके साथ खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं। बच्चे देश के भविष्य हैं और इनके साथ किसी भी तरह का भेदभाव या इनके भविष्य के साथ खिलवाड़ किसी स्थिति में बर्दाश्त से बाहर है इसके लिए पुलिस पदाधिकारी पूरी क्षमता और संवेदना के साथ काम कर रहे हैं। भविष्य में भी जहां भी आवश्यकता लगे काम करने के लिए तत्पर हैं।

तट वासी समाज न्यास किशनगंज द्वारा आयोजित एक दिवसीय परिचर्चा जिसका विषय मानव व्यापार, आधुनिक युग की दास्तां, बाल श्रम, बाल बंधुआ मजदूरी, बाल विवाह तथा महिला सशक्तिकरण था। कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए पुलिस अधीक्षक कार्यालय में प्रवासी समाज न्यास उपस्थित समाजसेवी और सभी थाना के एसएसओ पुलिस निरीक्षक अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी तथा अपने कार्यालय के कर्मियों को संबोधित किया। सर्वप्रथम कार्यक्रम सह परिचर्चा का उद्घाटन पुलिस अधीक्षक कुमार आशीष, वरीय अधिवक्ता अमल कुमार सिन्हा, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी डॉ अखिलेश कुमार के द्वारा संयुक्त रुप से दीप प्रज्वलन के बाद हुआ।

अधिवक्ता अमल कुमार सिन्हा द्वारा मानव व्यापार में संभावित केस में पोक्सो एक्ट सहित कठोरता का जिक्र करते हुए कहा कि मानव व्यापार एक संगठित अपराध है और इसको कानून के भय से ही समाप्त किया जा सकता है। प्रवासी समाज न्यास के समन्वयक बिपिन बिहारी ने मामला तो दर्ज हो जाता है लेकिन सजा के बिंदु तक आते-आते या तो समझौता हो जाता है या अभियुक्त बरी हो जाता है। वही चिंता व्यक्त की कार्यक्रम का संचालन करते हुए चाइल्ड लाइन के जिला समन्वयक सह किशोर न्याय परिषद के सदस्य अधिवक्ता पंकज कुमार झा ने किशोर न्याय परिषद तथा जेजे एक्ट की उपयोगिता पर विस्तार से चर्चा करते हुए थाने में प्रतिनियुक्त बाल कल्याण पुलिस पदाधिकारी को और संवेदनशील होने की बात कही।

कार्यक्रम में पुलिस अधीक्षक, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, सभी थाना प्रभारी, पुलिस निरीक्षक, लोक अभियोजक सहित कार्यालय के अधिकांश कर्मी अधिकारी उपस्थित रहे।


Spread the news