सुपौल : लोरिक महोत्सव-2018 के समापन व सम्मान समारोह में अधिकारी व समिति सदस्य हुए सम्मानित

728x90
Spread the news

मनीष आनंद
ब्यूरो, सुपौल

सुपौल/बिहार : बिहार सरकार के कला, संस्कृति एवं युवा विभाग के सौजन्य व जिला प्रशासन सुपौल के आयोजन में लोरिक धाम हरदी-चौघारा में आयोजित लोरिक महोत्सव-2018 के पाँचवे दिन समापन व सम्मान समारोह का आयोजन किया गया।

 मौके पर उप विकास आयुक्त, सुपौल मुकेश कुमार सिन्हा ने सफल आयोजन के लिए स्थानीय समिति के सदस्यों के प्रति आभार प्रगट करते हुए कहा कि हरदीगढ़ वासियों के सहयोग से लोरिक महोत्सव पुर्णतः सफल हुआ है। कम समय रहने के बाबजूद भी पुख्ता तैयारी के लिए संचालन समिति एवं उप समिति के तमाम सदस्यों का जिला प्रशासन की ओर से बहुत-बहुत शुक्रिया। अगामी वर्ष बड़े ही धूम-धाम से लोरिक महोत्सव मनाने का कार्य करेंगे। वहीं अनुमंडल पदाधिकारी कयूम अंसारी ने कहा कि लोरिक धाम के समुचित विकास के लिए स्थानीय निवासी एवं प्रशासन को मुस्तैद रहने की जरुरत है। इस स्थल के सर्वांगीण विकास की नीव पड़ चुकी है। अब पहल करने की जरुरत है।

 समापन समारोह के अवसर पर लोरिक विचार मंच के प्रदेश संयोजक डॉ. अमन कुमार ने कहा कि हरदी-चौघारा में दो स्वर्णिम इतिहास लिखा गया। पहला सुपौल जिला में सरकार के माध्यम से हरदी-चौघारा में लोरिक महोत्सव का शुभारंभ किया गया। दुसरा बिहार में लोरिक महोत्सव पहला महोत्सव है जिसे सरकारी स्तर पर पाँच दिनों के लिए स्वीकृति मिली। वीर लोरिक और हरदीगढ़ नामक पुस्तक बिहार के तमाम राजनेता, बुद्धिजीवी, पदाधिकारी, लेखक, प्रकाशक, सीनेस्टार, पत्रकार आदि को सप्रेम भेंट की जाएगी। वीर लोरिक के जीवन गाथा पर आधारित फिल्म की सूटिंग 26 जनवरी 2019गणतंत्र दिवस से प्रारंभ होगी! जिसे आम-आवाम बड़े पर्दे पर 15 अगस्त 2019 से देख सकेंगे। दर्शकों का ध्यान आकृष्ट करते हुए डॉ. कुमार ने कहा कि मृत्युभोज महापाप है इसके बदले जनहीत का कार्य करे। बाल-विवाह, दहेज़ प्रथा, सामाजिक कुरीति पर भी विस्तार पूर्वक विचार व्यक्त कर दर्शकों को झकझोर दिया।

 समापन समारोह में उप विकास आयुक्त, सुपौल मुकेश कुमार सिन्हा, अनुमंडल पदाधिकारी, सुपौल कयूम अंसारी, उप समाहर्ता, सुपौल अशोक तिवारी, जिला कृषि पदाधिकारी, सुपौल प्रवीण कुमार झा को समिति के सदस्यों द्वारा सॉल व मोमेंटो देकर सम्मानित किया गया। वहीं पदाधिकारियों द्वारा लोरिक महोत्सव-2018 के सफल संचालन हेतु गठित समिति के पर्यवेक्षक जगदीश प्रसाद यादव, ह्रदय नारायण मुखिया, डॉ. अमन कुमार, अरुण यादव, सुधीर मिश्र, शम्भू यादव, नरेश कुमार राम, रामचंद्र कामत को सक्रिय सहभागिता प्रमाण-पत्र प्रशासन के द्वारा दिया गया! इतना ही नहीं देवेन्द प्रसाद यादव, महेन्द्र यादव, मनोहर साह, जयशंकर मंडल, ललित मुखिया, रविन्द्र सिंह, गोपाल क्रांति, प्रीतम कुमार चौधरी, भगवानदत यादव, इंद्रभाष यादव, मणि ठाकुर, जिवनेश्वर पाठक, सज्जन मुखिया, छाविकांत मेहता, सुधीर यादव,  स्वाति साधना, रामबिलाश यादव, जीतेन्द्र कुमार झा, कृष्णदेव ठाकुर, सुरेन्द्र कुमार श्यामल, अमरेन्द्र कुमार यादव, नरेश कुमार यादव, त्रिभुवन कुमार, अशोक यादव, चंदेश्वरी प्रसाद यादव, डॉ. अनिल कुमार, उमेश यादव, राकेश कुमार, अशोक कुमार, अनिल कुमार, मुकेश कुमार, अखिलेश कुमार, शलेन्द्र कुमार, रामचंद्र यादव, जयकृष्ण कुमार, छोटेलाल मेहता, तरुण कुमार, रत्नेश कुमार, फुलेन्द्र यादव, सुशील कुमार, रविन्द्र यादव, प्रशम प्रकाश, हरिबोल यादव, अर्जुन कुमार यादव, शम्भू स्वर्णकार, पवन साह, अमर कुमार झा, जयप्रकाश यादव, सुनील कुमार बागरी, मो. कलीम, डोमी यादव, विकास कुमार, सतीश कुमार, नरेश मुखिया, अमलेश कुमार आदि को बेहतर कार्य निष्पादन के लिए सक्रिय सहभागिता प्रमाण-पत्र दिया गया।

लोरिक महोत्सव में झूम उठे दर्शक 

लोरिक धाम में आयोजित लोरिक महोत्सव-2018 के समापन दिन सांस्कृतिक कार्यक्रम में डोली सिंह, प्रियंका भारद्वाज, पल्लवी जोशी, अंतरा  सिंह, मेसी झा, मनीषा पाण्डेय आदि कलाकारों के नृत्य एवं गायन छोडू-छोडू न साईयाँ भोर भडगेले, दरोगा जी चोरी हो गई, एक राधा-एक मीरा ने शाम को रंगीन कर दिया। कलाकारों ने कार्यक्रम से दर्शकों को झकझोड़ते हुए खूब तालियाँ बटोरी वही जय बजरंगी आदर्श रामलीला मंडली नरहेया मधुबनी के संचालक ललित नारायण यादव व उनके साथियों के द्वारा रामलीला की झाँकी प्रस्तुती दी गई। जिससे पूरा का पूरा पंडाल भक्ति रस में सराबोर हो गई। स्थानीय कलाकार प्रकाश कुमार लालू, रामबिलाश यादव एवं बी.बी.सी. ट्रस्ट के कई कलाकारों के द्वारा मंच पर स्वच्छता, बाल-विवाह, दहेज़ प्रथा, नशा, सामाजिक कुरीति आदि पर गीत व समूह नृत्य प्रस्तुत किया गया। रिया कुमारी के द्वारा दिलबर-दिलबर एवं अनुप्रिया कुमारी के द्वारा मैं नाचू आज झम-झम गीत पर रेकार्डिंग डांस प्रस्तुत किया गया। वहीं बेटी-बचाओं, बेटी-पढाओ पर आधारित समूह नृत्य आर.आर.जी. पुब्लिक स्कूल चौघारा के छात्रा मुन्नी, ऋतु, राखी, निक्की, साक्षी, रिया, वागिसा के द्वारा प्रस्तुत किया गया!

मार्गदर्शन आवासीय पब्लिक स्कूल हरदी दुर्गा स्थान के छात्रा निधि एवं निशा के द्वारा श्याम बंसी बजाते हो पर गीत एवं बेटी एक वरदान पर नृत्य नाटिका प्रस्तुत की गई! वहीं संगीत शिक्षक त्रिभुवन कुमार एवं उपने छात्र-छात्राओं के द्वारा मैथिली एवं हिंदी गीतों पर कई प्रस्तुती दी गई।


Spread the news