मधेपुरा : डीएम ने मेडिकल कॉलेज परिसर में हेल्प डेस्क बनाने का दिया निर्देश

अमित कुमार अंशु
उप संपादक

मधेपुरा/बिहार : कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिये जिला प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद है। कोरोना संक्रमण की जांच से लेकर मरीजों के इलाज, उनके खाने-पीने की व्यवस्था, उनके साफ-सफाई एवं दवाई की उपलब्धता समेत अन्य सुविधाओं को लेकर जिला पदाधिकारी के द्वारा लगातार समीक्षा की जा रही है। साथ ही संक्रमित एवं संदिग्ध लोगों की जांच, संक्रमित व्यक्तियों के इलाज उनके खाने पीने रहने की व्यवस्था, साफ-सफाई तथा दवाई की उपलब्धता को लेकर लगातार जिले के अधिकारियों से लेकर प्रमंडलीय के अधिकारियों के द्वारा निरीक्षण कर प्रशासनिक एवं चिकित्सकीय कार्यों की समीक्षा की जा रही है।  वहीं संबंधित स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से लेकर अन्य अधिकारियों को भी दिशा निर्देश दिया जा रहा है कि किसी भी व्यक्ति को परेशानी का सामना ना करना पड़े, इसका ख्याल रखा जाय।

देखें वीडियो :

 बुधवार को ज़िला पदाधिकारी नवदीप शुक्ला ने जिले में कोविड-19 के संक्रमण को रोकने के मद्देनजर जन नायक कर्पूरी ठाकुर मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल के चिकित्सकों के साथ जिले मे उपलब्ध स्वास्थ्य सुविधाओं की वर्तमान स्थिति को लेकर समीक्षा बैठक की, उसके बाद हॉस्पिटल के हर एक वार्ड का जायजा लिया।

डीएम ने मेडिकल कॉलेज परिसर में हेल्प डेस्क बनाने का दिया निर्देश : निरीक्षण के दौरान जिला पदाधिकारी नवदीप शुक्ला के साथ अपर समाहर्ता सह जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी शिव कुमार शैव, सदर अनुमंडल पदाधिकारी वृंदा लाल, जननायक करपुरी ठाकुर मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल के अधीक्षक डा कर्नल अंसारी एवं चिकित्सा पदाधिकारी भी मौजुद थे।

 जिला पदाधिकारी ने कोरोना के लक्षण युक्त व्यक्तियों का हाल-चाल जानने एवं चिकित्सीय परामर्श देने का निर्देश दिया, साथ ही साथ उन्होंने मेडिकल कॉलेज परिसर में कोरोना संक्रमित व्यक्तियों एवं अन्य लोगों के लिये हेल्प डेस्क बनाने का निर्देश दिया। जिला पदाधिकारी ने कोरोना मरीज का केंद्रीकृत डेटाबेस बनाने को कहा, जिससे मरीज को ट्रेस करने में आसानी होगी। जिला पदाधिकारी नवदीप शुक्ला ने कहा कि वर्तमान स्थिति में युद्ध स्तर से कार्य किये जाने पर ही संक्रमण के फैलाव पर प्रभावी रोक लगेगा। उन्होंने सभी संबंधित अधिकारियों को साफ निर्देश दिया है कि आइसोलेशन वार्ड में रह रहे मरीजों को समय पर खाना, पानी एवं दवा उपलब्ध कराया जाय, किसी भी किस्म की कोताही होने पर संबंधित पर कार्रवाई की जायेगी, प्रत्येक मरीज के इलाज के लिये समुचित रूप से व्यवस्था करें।

कोई भी समस्या होने पर कंट्रोल रूम के नंबरों पर करें संपर्क : मेडिकल कॉलेज मैं बैठक एवं निरीक्षण के बाद जिला पदाधिकारी ने सदर अस्पताल  परिसर में स्थित नियंत्रण कक्ष का भी जायजा लिया।  जिला पदाधिकारी ने आइसोलेशन मे रह रहे व्यक्तियों को कंट्रोल रूम के माध्यम से लगातार हाल-चाल जानने का आदेश दिया, इसके बाद उन्होंने अस्पताल अधीक्षक हॉस्पिटल अधीक्षक को जल्द से जल्द आरटी पीसीआर टेस्ट शुरू कराने का आदेश दिया, साथ ही साथ वहां रह रहे कोरोना मरीज को मिल रहे सुख सुविधा का भी जायजा लिया। उसके बाद जिला पदाधिकारी ने सदर अस्पताल का भी भ्रमण किया एवं वहां पर संचालित नियंत्रण कक्ष मे प्रतिनियुक्त अधिकारियों एवं कर्मियों को ड्यूटी पर ससमय तैनात रहने का निर्देश दिया।

 मालूम हो कि जिला प्रशासन द्वारा कोरोना संक्रमित मरीजों को होने वाली परेशानी की जानकारी के लिये तथा अन्य लोगों के लिये, जिन्हें कोरोना से संबंधित किसी तरह की जानकारी चाहिये या उन्हें कोई शिकायत करनी हो, इसके लिये सदर अस्पताल में नियंत्रण कक्ष बनाया गया है,  साथ ही जिला प्रशासन ने नियंत्रण कक्ष का दूरभाष संख्या 8544421522, 06476-222048, 222049, 222050 भी जारी कर दिया है।

Check Also

नई शिक्षा नीति : संस्थान में सरकार का हस्तक्षेप ज्यादा होगा और डिग्री का महत्व कम-राठौर

🔊 Listen to this मधेपुरा/बिहार : मानव संसाधन विकास विभाग द्वारा लाई गई बहुप्रतीक्षित नई …