Breaking News

दरभंगा : जिलाधिकारी डॉ त्यागराजन एस एम की प्रशंसनीय कार्य, स्वयं कर रहे है राहत कार्यों की समीक्षा

ज़ाहिद अनवर (राजु)
उप संपादक

दरभंगा/बिहार : कोरोना महामारी से प्रभावित हुए राज्य के सभी व्यक्तियों को चाहे वह अपने घर में आ गये हां अथवा राज्य के बाहर ही फंसे हुए हो सभी जरूरी सुविधाएँ पहुँचाई जाये। कोरोना महामारी के प्रसार को रोकने हेतु सरकार द्वारा सारे इंतजाम किये गये हैं और इस दिशा में निरंतर प्रयास किये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए ही भारत सरकार द्वार पूरे देश में 21 दिनों का लॉक डाउन किया गया है। इसके चलते गरीब/दैनिक मजदूरी करने वाले लोगों को जीवन चलाने में कठिनाइयाँ हो रही है। इसलिए जरूरत मंद लोगों को हर संभव सहायता पहुँचाई जाये। उनके लिए भोजन/पानी की व्यवस्था की जाये। बेघर/बेसहारा लोगों को सरकारी भवनों में आवासित कराई जायें। वहाँ उनके खाने/पीने/दवा आदि की समुचित व्यवस्था होनी चाहिए।

उन्होंने ये बातें वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से कही है। इस वीडियो कॉन्फ्रेसिंग में सभी जिला पदाधिकारी, पुलिस अधीक्षक, सभी वरीय पदाधिकारी, जिप अध्यक्ष, नगर निगम महापौर, सभी ग्राम पंचायत मुखिया/जिला पार्षद आदि सम्मिलित हुए।

मुख्यमंत्री ने सभी जनप्रतिनिधयों को लॉक डाउन पीरियड में अपने-अपने घरों में ही रहने, सोशल डिस्टेसिंग नियम का पालन करने एवं राज्य के बाहर से लौटे अप्रवासी मजदूरों/कामगारों एवं अन्य लोगों को क्वारंटाइन केन्द्र में रखवाने की व्यवस्था करने को कहा कि यह आपदा की घड़ी है, इस अवसर पर सरकार पीड़ित व्यक्तियों को हर संभव सहायता पहुँचाने के लिए प्रतिबद्ध है। लॉक डाउन के चलते गरीब लोगों के जीविका पर बुरा असर पड़ा है। इसलिए सभी राशन कार्डधारियों के खाते में एक मुश्त एक-एक हजार रूपये भेजी जा रही है। वहीं समाजिक सुरक्षा पेंशनधारियों को 03 माह का अग्रिम पेंशन भुगतान करने की भी कार्रवाई की जा रही है। स्कूलो में पढ़ाई कर रहे सभी छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति की राशि भी रिलीज करने का निदेश दिया गया है।

उन्होंने कहा कि अभी रबी फसल कटनी का समय है। इसलिए कृषि कार्य को लॉक डाउन से मुक्त रखा गया है। सभी किसान सोशल डिस्टेसिंग नियम का पालन करते हुए फसल की कटाई करायें। इसमें कोई रोक-टोक नहीं है। कृषि यंत्रों के आपूर्त्ति/बिक्री की भी मँजूरी दे दी गई है। कृषि कार्य किसी भी सूरत में बाधित नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि वैश्विक कोरोना महामारी पर नियंत्रण करने हेतु राज्य में कोरोना उन्मूलन कोष का गठन किया गया है। इस कोष से अस्पतालों में आधारभूत संरचना का विकास/दवा/उपकरण आदि का क्रय किया जायेगा। उन्होंने कहा कि राज्य के बाहर रह रहे लोगों के द्वारा भी मदद की गुहार लगाई गई है। ऐसे लोगों को संबंधित राज्य सरकारों के माध्यम से सारी मदद पहुँचाई जा रही है। इस कार्य हेतु बिहार भवन, दिल्ली में स्थानीय आयुक्त के द्वारा हेल्प लाइन नम्बर जारी किया गया है। ये नम्बर हैं : 9773711261 एवं 7070290170 इन नम्बरों पर डायल करने पर जरूरी मदद पहुँचाई जायेगी। इसके साथ ही 7070290170 नम्बर पर व्हाट्स एप के माध्यम से भी राज्य के बाहर फंसे लोग अपनी बातें बता सकते है।

उन्हें तुरंत मदद पहुँचाने की कोशिश की जायेगी। मुख्यमंत्री द्वारा बताया गया कि कोविड – 19 महामारी बहुत तेजी से फैल रहा है। 16 मार्च 2020 को कोरोना बीमारी से संक्रमित लोगों की संख्या लगभग 169000 थी। जबकि उक्त तिथि तक 6513 व्यक्ति अपनी जान गंवा चुके थे। वहीं 31 मार्च 2020 तक यह बीमारी 859000 लोगों को अपने चपेट में ले लिया है और 42322 लोग अपनी जान गांवा चुके है। भारत में इससे 1397 लोग पीड़ित हैं और 35 लोगों की जान चली गई है। बिहार में भी अब तक 23 व्यक्ति इससे पीड़ित है और 01 व्यक्ति की मृत्यु हो चुकी है। लॉक डाउन से लगभग 1.60 लोग राज्य के बाहर फंसे हुए है, उनको मदद पहुँचाने के लिए 44 टीमें गठित की गई है। सभी फंसे हुए लोगों से बात कर मदद पहुँचाने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने जिलाधिकारी से कहा है कि कोरोना महामारी से पीड़ित सभी व्यक्तियों के चिकित्सा राज्य सरकार की जवाबदेही है। इसमें किसी भी प्रकार की कोताही नही होनी चाहिए। कोरोना महामारी से लड़ने के लिए जिला में किये गये कार्यों की समीक्षा के क्रम में जिलाधिकारी, दरभंगा द्वारा बताया गया कि 10 मार्च के बाद कुल 11226 व्यक्ति राज्य के बाहर से आये हैं। वहीं 287 लोग विदेश यात्रा कर लौटे हैं। विदेश से लौटने वाले सभी लोगों की स्क्रीनिंग हो गई है। 18 मार्च के बाद विदेश से लौटने वाले सभी व्यक्तियों की जाँच कराई जा रही है। उन्हें होम क्वारंटाइन किया गया है। वहीं दो दिनों में जिला में आये सभी लोगों को गाँव के स्कूल भवन में क्वारंटाइन किया गया है। उन सभी लोगों की डेली स्क्रीनिंग कराई जा रही है। सभी क्वारंटाइन केन्द्रों एवं होम क्वारंटाइन में पोस्टर चिपकाया गया है। जिला में अब तक 369 सहायता केन्द्र चालू किये गये हैं। जिसमें कल 788 लोग रह रहे है। दूसरे राज्य के कुछ मजदूर भी यहाँ रूके हुए है, जिन्हें भोजन/पानी की सुविधा प्रदान की गई है।

इसके पूर्व उप मुख्यमंत्री द्वारा कोरोना महामारी को फैलने से रोकने के लिए सोशल डिस्टेसिंग नियम का पालन करने का अनुरोध किया गया। इस वीडियो कॉन्फ्रेसिंग में जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन एस.एम., नगर पुलिस अधीक्षक योगेन्द्र कुमार, सभी कोषांग के वरीय/नोडल पदाधिकारी, जनप्रतिनिधिगण सम्मिलित हुए।

Check Also

मधेपुरा : हथियार के साथ गिरफ्तार अपराधियों को भेजा गया जेल

🔊 Listen to this  ⇒ 2 देशी कट्टा 6 जिन्दा कारतूस के साथ पकड़े गये …