कटिहार : नगर निगम द्वारा उपेक्षा से आहत होकर छठ घाटों की साफ़-सफाई का जिम्मा स्वयं सहायता समूह ने उठाया

मुर्शीद आलम
ब्यूरो,कटिहार

कटिहार/बिहार : नगर निगम अन्तर्गत छिटाबाड़ी स्थित छठ घाट की स्वयं सहायता आन्दोलन के तहत राजद नेता समरेन्द्र कुणाल के नेतृत्व में साफ सफाई का काम शुरू किया जा रहा है, दर्जनों स्थानीय युवाओं ने नगर निगम द्वारा उपेक्षा से आहत होकर खुद से ही घाट की सफाई शुरू कर दिया ।

सनद रहे कि छिटाबाड़ी स्थित छठ घाट पर वर्ष 1972 से पूजा पाठ होता आ रहा है। लोगों में नगर सरकार द्वारा सहयोग नहीं देने से आक्रोश है। कुणाल के नेतृत्व में बारिश में भींग कर लोगों ने सफाई अभियान चलाया। उन्होने कहा कि छिटाबाड़ी भगवान चौक चनमारी अमिराबाद इलाके के पाँच सौ परिवार  का पूजा वर्ष 1972 से होता आ रहा है, नगर सरकार द्वारा शहर के 38  छठ घाटों की सफाई की घोषणा सफेद झूठ है। नगर सरकार द्वारा घोषणा किए गए सभी 38 घाटों की सूची सार्वजनिक करना चाहिए घाटों की सफाई में लगे कर्मियों का नाम की सूची घाटों के साथ उल्लेख करना चाहिए।

उन्होने कहा कि छठ महापर्व का आयोजन महज सात दिन ही बचा  हुआ है, कई ऐसे घाट है जहाँ निगम कर्मी तो दूर एक झाड़ू भी अभी तक नहीं पहुँचा है। वहीं बरखा पानी को लेकर चिंतित है हालत बदतर बनी हुई  है। चारो तरफ गंदगी फैला है। कुणाल ने कहा कि शहर की साफ सफाई एवं छठ घाटों की जिम्मेदारी की खानापूर्ति किया जा रहा है। प्रशासन के पास कोई प्लानिंग नहीं कोई रोड मैप तैयार नहीं किया गया है ।राजद द्वारा स्वयं सहायता आन्दोलन चलाने के कारण सिर्फ दिखावा किया जा रहा है।

कुणाल ने कहा कि नगर निगम के लिए स्वयं सहायता आन्दोलन चुनौती है। निगम द्वारा होल्डिंग टैक्स में शहर के झुग्गी झोपड़ी खाली जमीन तक को शामिल कर वसूला जा रहा और सुविधा शून्य है। उन्होने बताया की स्वयं सहायता आन्दोलन आगे भी जारी रहेगा।

इस अवसर पर राजद के बिनोद कुमार यादव मो मुनिर आलम गौतम साहा राजा पासवान फुच्चो पासवान सम्राट कुमार गणेश चंद्रा श्रीकांत कुमार अनुप पासवान मंटू सहनी पप्पू तांती रोहित रविदास टूकेश मंडल बिपिन कुमार सहित दर्जनों स्थानीय युवाओं ने घाट की सफाई किया।

Check Also

मधेपुरा : पेड़ प्रकृति की अमूल्य धरोहर- ललित कुमार सिंह

🔊 Listen to this चौसा से संवाददाता नौशाद आलम की रिपोर्ट : चौसा/ मधेपुरा/ उदाकिशुनगंज …