मधेपुरा : शाकाहारी दिवस पर शांति मार्च का आयोजन

728x90
Spread the news

महताब अहमद
ब्यूरो, मधेपुरा

मधेपुरा/बिहार : शाकाहारी दिवस के मौके पर शहर में शोभायात्रा निकाल कर आम लोगों से शाकाहारी बनने का आह्वान किया गया । बता दें कि संत वासवानी के जन्म दिन को देश में हर वर्ष 25 नवम्बर को शाकाहारी दिवस के रूप में मनाया जाता है। संत वासवानी से जुड़े सेकड़ों कार्यकर्ताओं ने शहर के मुख्य मार्ग में शोभायात्रा निकाल कर लोगों से शाकाहारी बनने का अपील करते हुए कहा कि जब हम किसी को जान नहीं दें सकते तो फिर किसी पशु, पक्षी और जल प्राणी का जान क्यों मारे।

उन्होंने कहा कि संत वासवानी दुनियां के लोगों को संदेश यही देकर गये हैं कि हर मानव को शाकाहारी बनना चाहिए क्यों कि पृथ्वी पर पैदा होने वाले मानव और हर जीव जंतु का जान बराबर है। उन्होंने कहा कि हर जीव जंतु को जीने का बराबर अधिकार है उन्हें भी खुशी पूर्वक जीने की लालसा होती है। लेकिन मानव उनके जीवन के साथ क्रूरता पूर्ण व्यवहार करते है, उनके जीवन को खत्म कर अपने जिह्वा के स्वाद को मिटाता है। इससे बड़ा अधर्म पृथ्वी पर और कुछ नहीं है। इसलिए हमें जागना होगा।

इस मौके पर कार्यक्रम का आरम्भ डॉक्टर, भुपेन्द्र मधेपुरी दीप प्रज्वलित कर के किया और शांति संदेश डॉक्टर, श्यामल कुमार सुमित ने हरि झंडी दिखा कर रवाना किया।

 इस कार्यक्रम में तुलसी पब्लिक स्कूल के बच्चे और शहर के अन्य गण्यमान लोगो ने भारी संख्या में स्टेट बैंक रोड होते पूरे शहर में भ्रमण किया और लोगो को शाकाहारी होने की अपील की।

इस दौरान वासवानी समिति सत्संग के प्रमुख निर्मल सुल्तानिया के यहाँ भंडार में भी लोगो ने प्रसाद खाया। इस मौके पर सैकड़ो गण्यमान लोग उपस्थित थे डॉक्टर, श्यामल कुमार सुमित वरुण सर, वीणा देवी सपना, नेहा, किरण, सुल्तानिया, सहेली, मोहन, सुलोचना देवी, मनीषा, मीतेश केडिया मौजूद थे।


Spread the news