किशनगंज : मासिक अपराध गोष्ठी के दौरान किशनगंज पुलिस ने गिनाई अपनी उपलब्धियां, निर्धारित लक्ष्य 178 के विरुद्ध कुल 197 कांडों को किया निष्पादित

728x90
Spread the news

शशिकान्त झा
वरीय उप संपादक

किशनगंज/बिहार : जिले के हरदिल अजी़ज एस .पी .कुमार आशीष के सफल नेतृत्व में रोजमर्रे की तर्ज पर हर दिन नये-नये मुकामों को हांसिल करता किशनगंज जिला पुलिसबल ने नवंबर माह के अपराधगोष्ठी में मील का पत्थर कायम किया। जिसके तहत डकैती, हत्या और महिला उत्पीड़न के अभियुक्त सहित 149 को गिरफ्तार करते हुए, जुर्माने के तौर पर विभिन्न पहलुओं से भारी भरकम रकम 13 लाख, 78 हजार, 990 रु. की वसूली  के साथ-साथ 92.200 लीटर अवैध शराब की जब्ती कर किशनगंज पुलिस का झंडा ऊंचा कर दिखाया है । साथ हीं एस.पी . श्री आशीष ने अपनी आगे की रणनीतियों का भी ऐलान अपराधगोष्ठी में कर “पुलिस” की उत्कृष्ट परिभाषा “पु” पुरुषार्थ, “लि” लिप्सारहित, एवं “स” सहयोगी होने को परिभाषित किया है ।

 जैसा कि आज माह नबंम्वर के मासिक अपराधगोष्ठी के बाद जारी जिला पुलिस मुख्यालय से विज्ञप्ति के अनुसार पिछले निर्धारित लक्ष्य 178 प्रतिवेदित कांडों के विरुद्ध जिला बल ने कुल 197 कांडों को निष्पादित कर उपलब्धियों के कील ठोक डाला है । जबकि प्रतिवेदित कांडों के अतिरिक्त जिलान्तर्गत सभी थानाओं ने कुल 214 वारंट, 22 कुर्की, 08 नीलामपत्र वादों को भी निष्पादित कर दिखाया है । कुल मिलाकर अगर मानी जाय तो अपराध एवं अपराधियों के लिए किशनगंज पुलिस एक चुनौती बनती जा रही है । जिससे अपराध और अपराधियों ने संभवतः अपने रास्ते बदलने का इरादा भी साफ कर दिया है ।

गौरतलब है कि जहां पांच से अधिक कांडों के निष्पादनकर्ता अनुसंधानक पदाधिकारियों को स्वयं एस.पी. ने पुरष्कृत करने की घोषणा कर रखी है  तो पीछे रहनेवाले अनुसंधाकर्ता पदाधिकारियों में भी पुरष्कृत होने की सकारात्मक ललक अंगड़ाइयाँ लेने लगी है । जबकि जिले में स्थापित थानाओं के जरिये हत्या के एक, डकैती के एक और महिला उत्पीड़न मामले के एक अभियुक्त सहित अंकित विभिन्न थानाकांडों के कुल 92 तथा 54 वारंटियों को गिरफ्तार करने में भारी सफलता पाई है । जबकि वसूले गये कुल जुर्मानाओं में सबसे अधिक जुर्माना वसूलने में किशनगंज आदर्श थाना 03 लाख 98 हजार 180 रु.की दंड वसूली कर अपने नम्वर वन बने रहने को बरकरार रखा है तो कुर्लीकोट ने दूसरा और पौआखाली ने तीसरे स्थान पर अपना कब्जा बना लिया है । जबकि जब्ती के मामले में तीन छोटे वाहन, 66.600 एम .एल .विदेशी शराब 25 .600 एम .एल. देशी शराब सहित 47 पशुओं सहित 2755 रु.भारतीय करेंसी शामिल हैं । बताते चले की सरकारी खजाने में जमा कराये गये रकमों को वाहन चेकिंग, ओवर लोडिंग, यातायात नियमों के उलंघन मामले में वसूले गये दंड शुल्क शामिल हैं ।

वहीं पर इन उपलब्धियों पर “द रिपव्लिकन टाईम्स” के वरीय उप संपादक से विशेष बातचीत में एस.पी. श्री आशीष ने अपनी आगे की रणनीतियों पर आश्चर्यजनक खुलासा करते हुए कहा है कि अपराध नियंत्रण, कैश लूट कांडों की रोकथाम के लिए अचूक पहल की योजना तैयार है, जिससे इस पर रोक लगेगी। पुराने कांडों का शिघ्र उद्भेदन कर अभियुक्तों की गिरफ्तारी की जाऐगी । वैज्ञानिक तरीकों से कांडों का अनुसंधान कर इ वी एम निष्षादन, स्पीडी ट्रायल के माध्यम से अपराधियों को अतिशीघ्र सजा दिलाई जाऐगी, यातायात नियमों की जानकारिया़ं लोगों तक पहुंचाने के लिए जागरुकता कार्यक्रम चलाने की योजनाऐं शीघ्र चलाई जाऐगी । बातों के महत्वपूर्ण अंश का खुलासा करते हुए उन्होंने कहा है कि पुलिसिंग के तहत सामुहिक खेल कूद के कार्यक्रमों को आयोजित कर पुलिस आम जनता के करीब जाकर उन्हें पुलिस के प्रति विश्वास जगाऐगी ताकि पुलिस पब्लिक मित्रता समाज में एक अनूठी मिसाल कायम कर सके ।

सनद रहे कि -किशनगंज पुलिस आपके द्वार कार्यक्रम से पुलिस पब्लिक के बीच समन्वय की अहम कड़ियां जुड़ने की शुरुआत पुलिस अधीक्षक कुमार आशीष ने सीमावर्ती एवं अंत्यंत पिछले इलाके बीबीगंज थाने से खुद शुरु की थी ।


Spread the news