किशनगंज पुलिस ने 48 घंटों में लूट की रकम सहित चार को गिरफ्तार कर किया रिकॉर्ड कायम, बंगाल सहित नेपाल तक पहुंची गूंज

शशिकांत झा
वरीय उप संपादक

किशनगंज/बिहार : जिले के ठाकुरगंज प्रखंड स्थित बस स्टेंड की एक चाय दुकान में दो लोग आपस में बातें करते करते अचानक बोल पड़ते हैं, “गज़ब का  करेज है किशनगंज की पुलिस में, जो महज 48 घंटों के अन्दर लूट की रकम और लूट में शामिल चारो बदमाशों को खुद एस पी ने पकड़ लिया”  बंगाल के ये दोनों निवासी किशनगंज पुलिस की वाहवाही में लगे थे। जब उनसे उनका नाम पूछा गया तो वे उठकर चलते बने ।                    

मामला 17 .03 .20 का बताया गया है, जब यहाँ भीमबालिस के एक कूरियर कम्पनी के सिक्युरिटी आफिसर राकेश कुमार मिश्रा ठाकुरगंज थाना में डिलीवरी प्राइवेट लि. के कार्यालय से दो हेलमेटपोश अपराधियों के द्वारा 07 लाख 58 हजार रुपये लूटे जाने की घटना को पंजीकृत करने हेतु आवेदन दे रहे थे ।                

घटना पर अनुसंधान किये जाने के क्रम में किशनगंज एस पी कुमार आशीष स्वयं घटनास्थल पर आ पहुंचे और कूरियर कंपनी कार्यालय में लगे सी सी टी वी फूटेज को खंघालने लगे। जिसके फूटेज से सच्चाई उभर कर सामने आने लगी और कार्यालय में घटना के समय मौजूद दो कर्मचारियों क्रमशः अनुज कुमार झा (32) पिता खेलानंद झा, टीम लीडर, बलुवा बाजार, जिला सुपोल और डिलीवरी ब्याय रोहित कुमार जयसवाल (22) पिता राज कुमार जयसवाल, निवासी स्थानीय फौदारबस्ती, वार्ड नं.04 से पूछताछ की गई तो तो इस लूटकांड पर से पर्दा उठने लगा।

इस बाबत एक प्रेस कांफ्रेंस के जरिये एस पी किशनगंज जो बातें बतलाई वह एकदम से चौकाने वाला  साबित हुआ। कम्पनी के तीन से चार लाख रुपये अनुज, रोहित और अन्य स्टाफ के पास थे। जिसे कम्पनी के खाते में जमा करना था। इन्हीं दोनों ने मिलकर लूट के घटना की मनगढ़ंत कहानी गढ़ी और 07.58 हजार रुपये लूटे जाने का झूठा मुकदमा दायर करा दिया। जब इनसे पूछताछ कर इनके सी सी टी वी फूटेज और सी डी आर एनालाईजर की जांच की गई तो इन पर पुलिस का शक गहराता गया। इसके बाद इनकी इस मनगढंत लूट की घटना में स्वीकारोक्ति के बाद इनकी निशानदेही पर लूटेरे की भूमिका अदां करने वाले क्रमशः धर्मपाल सिंह (25)पिता कृष्ण कुमार सिंह, स्थानीय ढिबरीपाड़ा, वार्ड नं.04 एवं गोपाल दास (20)पिता कपिल दास, गुदड़ी, स्टेशन रोड वार्ड नं. 10 सहित अनुज और रोहित को पुलिस ने लूट के साथ जालसाजी और कंम्पनी के साथ धोखाधड़ी करने के आरोप में चारो को गिरफ्तार कर लिया।

जहाँ से केवल 02 लाख 48 हजार रुपयों की हेराफेरी करने के साथ कुल 01 लाख 57 हजार रुपयों को बरामद कर लिया गया । जिसमें 50 हजार के दो बंडल (500×100), 20 हजार का एक बंडल (200×100), 100 के तीन बंडल (100×100) ,तथा 50×24 एक हजार दो सौ और 20×40 आठ सौ रुपयों की बरामदगी की गई। प्रेस कांफ्रेंस में किशनगंज एस पी ने इस घटना के उद्भेदन में कार्यरत पुलिस पदाधिकारियों में अजय कुमार झा, डी एस पी मुख्या., पु नि सह अंचल पुलिस निरीक्षक, ठाकुरगंज अश्विनी कुमार, पु नि सह थानाध्यक्ष ठाकुरगंज मोहन कुमार, पु नि मेराज हुसैन, तकनीकी सेल प्रभारी, किशनगंज, हवलदार /07  विरेंद्र तिवारी, सिपाही 499 रंजीत पासवान, सि.337 शैलेश कुमार, सि.457 भोला टुड्ड, सि.531 राजेश कुमार, चालक सिपाही 07 हनुमान कुमार, सि.382 प्रभाष कुमार, गृह रक्षक चालक राजेश कुमार हरिजन, डाटा ईं.आपरेटर इश्तियाक नूरी सभी ठाकुरगंज थाना एवं सिपाही तकनीकी शाखा 258 सुमित कुमार, सि .264 मनीष कुमार तदेव शाखा, सि.615 प्रमोद कुमार, तकनीकी शाखा, को पुरस्कृत करने की बात कही ।

इस तरह किशनगंज पुलिस की वाहवाही की गुंज बंगाल सहित नेपाल तक गुंज रही है।

Check Also

मधेपुरा : अफवाहों के लेकर पत्रकार और जिलवासियों से डीएम ने की अपील, कहा : इस विकट परिस्थिति का सब एक साथ मिलकर करें सामना  

🔊 Listen to this मधेपुरा/बिहार : जिला पदाधिकारी नवदीप शुक्ला ने जिले वासियों से अपील …