मधेपुरा में राजकीय अल्पसंख्यक महिला छात्रावास बनकर तैयार, नामांकन की प्रक्रिया जल्द होगी शुरू

728x90
Spread the news

मधेपुरा/बिहार : जिले में लंबे समय के बाद छात्राओं के खुशी की खबर सामने आई है. जिले में छात्राओं के लिए छात्रावास शुरू होने जा रहा है. यह छात्रावास अल्पसंख्यक छात्राओं के लिए शुरू किया जायेगा. ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाली अल्पसंख्यक समुदाय की छात्राएं अब ठाकुर प्रसाद महाविद्यालय के राजकीय अल्पसंख्यक महिला छात्रावास में रहकर पढ़ाई कर सकेगी. अत्याधुनिक सुविधा से लैस राजकीय अल्पसंख्यक महिला छात्रावास का संचालन के लिए जिला अल्पसंख्यक कल्याण पदाधिकारी राजीव रंजन ने ठाकुर प्रसाद महाविद्यालय के प्राचार्य डा केपी यादव को हैंडओवर कर दिया है. इसमें अल्पसंख्यक समुदाय की एक सौ छात्राओं काे कम से कम शुल्क में रहने की सुविधा मिलेगी. छात्रावास के संचालन के लिए जल्द ही नामांकन प्रक्रिया शुरू कर दी जायेगी. जिसके लिए महाविद्यालय प्रशासन द्वारा तैयारी की जा रही है.

Advertisement

अल्पसंख्यक महिला छात्रावास में एक सौ छात्राओं के रहने की व्यवस्था : मालूम हो कि यह छात्रावास बहुत पहले ही बन कर, पूरी तरह से तैयार हो चुका था, लेकिन कोरोना के प्रथम लहर में जिला प्रशासन द्वारा इस महिला छात्रावास को कोरेंटीन सेंटर बनाया गया था, जो अब पूरी तरह खाली हो चुका है तथा जिला प्रशासन द्वारा महाविद्यालय प्रशासन को सौंप दिया गया है. महाविद्यालय के पीछे नदी किनारे स्थित चार फ्लोर के राजकीय अल्पसंख्यक महिला छात्रावास में एक सौ छात्राओं के रहने की व्यवस्था की गई है. इसमें बिजली का कनेक्शन है. पंखे व लाइट लगी हुई है. स्वच्छ पेयजल के लिए मशीन बैठाई गई है. पुस्तकालय की व्यवस्था की गई है. छात्राओं के खाने के लिए मेस की सुविधा उपलब्ध है. अल्पसंख्यक समुदाय के मुस्लिम छात्राओं के लिए नमाज पढ़ने के लिए सुविधा की गई हैं.

उर्दू विभाग की प्राध्यापक डा यासमीन रसीदी छात्रावास की सुपरिटेंडेंट : छात्रावास में रहने वाली छात्राओं को किसी तरह की कोई परेशानी ना हो तथा सभी गतिविधियों पर नजर रखने के लिए सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं. साथ ही ठाकुर प्रसाद महाविद्यालय के उर्दू विभाग की प्राध्यापक डा यासमीन रसीदी को छात्रावास का सुपरिटेंडेंट नियुक्त किया गया है एवं उनके रहने की व्यवस्था भी की गई है. छात्रावास शुरू होने तक उसके देखने के लिए तत्काल अभी एक गार्ड ध्रुव कुमार की तैनाती की गई है. छात्रावास शुरू होने से पहले डे एवं नाइट गार्ड की तैनाती कर ली जायेगी. इस छात्रावास में रहने के लिए जिले के किसी भी महाविद्यालय के अल्पसंख्यक समुदाय की स्नातक स्तर की छात्राएं आवेदन कर सकेंगी.  छात्रावास के संचालन के लिए कमेटी का भी गठन किया जायेगा. जिसमें अध्यक्ष महाविद्यालय के प्राचार्य, सचिव महाविद्यालय के अर्थपाल या वरीय शिक्षक एवं तीन सदस्य होंगे.

छात्रावास पूर्णत: बनकर तैयार, छात्राओं के आवासन की है प्रतीक्षा : ठाकुर प्रसाद महाविद्यालय के प्राचार्य डा केपी यादव ने कहा कि यह महाविद्यालय प्रशासन के लिए हर्ष की बात है कि जिले में जल्द शुरू होने वाला पहला महिला छात्रावास, ठाकुर प्रसाद महाविद्यालय का है. उन्होंने बताया कि राज्य सरकार द्वारा अनुदानित अल्पसंख्यक महिला छात्रावास पूर्णत: बनकर तैयार है, जो छात्राओं के आवासन की प्रतीक्षा में है. प्राचार्य ने बताया कि छात्राओं के नामांकन के लिए जिले के अंगीभूत एवं संबद्ध महाविद्यालय के प्राचार्य को पत्र भेजकर अनुरोध किया जायेगा कि वह अपने महाविद्यालय के अल्पसंख्यक छात्राओं को सूचना दें कि जो छात्रा हॉस्टल सुविधा लेना चाहती है, वह अपने महाविद्यालय में आवेदन दें. जिसके बाद महाविद्यालय प्रशासन सभी एकत्रित आवेदन को ठाकुर प्रसाद महाविद्यालय के प्राचार्य के समक्ष जमा करें. उन्होंने बताया कि जल्द ही जिला अल्पसंख्यक कल्याण पदाधिकारी के साथ बैठक कर शुल्क निर्धारित की जायेगी.

अमित कुमार अंशु
उप संपादक

Spread the news

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें