मधेपुरा में कोविड टीकाकरण का हुआ आगाज, पहले दिन 437 स्वास्थ्य कर्मियों को लगा टीका

प्रथम चरण के टीकाकरण में स्वास्थ्य कर्मियों, स्वास्थ्य संस्थाओं के सफाई कर्मी, एम्बुलेंस चालक, पारा मेडिकल स्टाफ एवं चिकित्सकों का टीकाकरण किया जा रहा है। दूसरे चरण में फ्रन्ट लाईन वर्कर, जिनमें नगर निकाय के सफाई कर्मी, पुलिस बल, सेना के जवान, राजस्व एवं ग्रामीण विभाग के कर्मियों/पदाधिकारियों का टीकाकरण किया जाएगा।

www.therepublicantimes.co
सदर अस्पताल में फीता काटकर टीकाकरण शुभारांभ करते डीएम और एसपी
728x90
Spread the news

मधेपुरा/बिहारमधेपुरा में आज से कोविड 19 टीकाकरण का काम शुरू हो चुका है, जिसका शुभारंभ आज मधेपुरा सदर अस्पताल से  डीएम श्याम बिहारी मीना और एसपी योगेंद्र कुमारके द्वारा संयुक्त रूप फीता काटकर किया गया । इस अवसर पर सदर अस्पताल  में उत्सव का माहौल रहा। टीका लेने वालों की कतार लगी रही।

पहले दिन 437 स्वास्थ्य कर्मियों को लगा टीका : 16 जनवरी को प्रथम चरण पहले दिन जिले के 8 टीका स्थल पर 437 स्वास्थ्य कर्मियों को लगाया गया, जिसमें सदर अस्पताल में 40, जेएनकेटी मेडिकल कॉलेज में 54, क्रिस्टन अस्पताल में 41, बिहारीगंज में 70, उदाकिशुनगंज में 70, चौसा में 39, कुमारखंड में 67, आलमनगर में 56  स्वास्थ्य कर्मी को टीकाकरण किया गया।

खबर से संबंधित वीडियो देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

कोविड-19 टीका जिले के 9441 लाभार्थियों को लगेगा, प्रत्येक दिन 100 लोगों का टिकाकारण करने का लक्ष्य रखा गया है। टीकाकरण के लिए जिले के 8 स्थलों का चयन किया गया है. जिनमे सदर अस्पताल, मेडिकल कॉलेज, क्रिस्चन अस्पताल, बिहारीगंज PHC, चौसा PHC, आलमनगर PHC, उदाकिशुनगंज SDCH, कुमारखंड CHC शामिल है। मालूम हो कि टीकाकरण के सफल संचालन के मद्देनजर जिला में पूर्व में ही टीकाकरण कर्मियों को प्रशिक्षण भी दिया गया है । इसके अलावा जिला एवं प्रखंड स्तर पर 24 घंटे क्रियाशील नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया. जिसमें रोस्टर वाइस चिकित्सा पदाधिकारी एवं कर्मियों की तीन पारियों में प्रतिनियुक्ति की गई है। वहीं 100 लाभार्थी की संख्या पर एक टीकाकरण दल का गठन किया गया।

टीकाकरण के लिए सदर अस्पताल ओपीडी परिसर में तीन कमरे बनाए गए हैं। जिसमें पहला वाला कमरा लाभार्थियों के टीका लेने के लिए वेटिंग हाल, दूसरा कमरा टीकाकरण के लिए, जबकि तीसरा  कमरा टीकाकरण के बाद 30 मिनट तक लाभार्थी की निगरानी और देखभाल के लिए बनाया गया। साथ ही टीकाकरण केंद्र पर समुचित मात्रा में हैंड सेनीटाइजर ,मास्क आदि की भी व्यवस्था की गई है।

इस अवसर पर संवाददाताओं को सम्बोधित करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि जिस वायरस से हम विगत 08 महीने से परेशान थे, जीवन की गतिविधियाँ असामान्य हो गयी थीं, अब खुशी है कि इस टीकाकरण के बाद हम पुनः सामान्य जीवन में लौट जाएंगे। लेकिन अभी भी कोविड-19 से सुरक्षा व बचाए के लिए जारी गाइडलाइन का पालन करते रहना जरूरी है। मास्क, सामाजिक दूरी एवं सैनिटाइजर का प्रयोग करते रहना है। क्योंकि, प्रथम टीकाकरण के बाद पुनः 28 वें दिन उसी व्यक्ति को दूसरी बार टीका लगाया जाएगा और उसके 15 दिनों के बाद उस व्यक्ति के शरीर में पूर्णतः कोरोना का प्रतिरोधक क्षमता तैयार होता है। इसलिए, सुरक्षा के उपाय अभी जरूरी है।

उन्होंने कहा कि आज प्रथम चरण के टीकाकरण में स्वास्थ्य कर्मियों, स्वास्थ्य संस्थाओं के सफाई कर्मी, एम्बुलेंस चालक, पारा मेडिकल स्टाफ एवं चिकित्सकों का टीकाकरण किया जा रहा है। दूसरे चरण में फ्रन्ट लाईन वर्कर, जिनमें नगर निकाय के सफाई कर्मी, पुलिस बल, सेना के जवान, राजस्व एवं ग्रामीण विभाग के कर्मियों/पदाधिकारियों का टीकाकरण किया जाएगा। तीसरे चरण में 50 वर्ष से ऊपर वाले एवं समस्याग्रस्त लोगों का टीकाकरण किया जाएगा। जल्द ही आम लोगों को भी टीका लगाया जाएगा।

अमन कुमार
संवाददाता, सदर
मधेपुरा

Spread the news

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें