नालंदा : स्नातक अधिकार मंच के द्वारा सरमेरा प्रखंड में जनसंपर्क अभियान चलाया गया

728x90
Spread the news

मुर्शीद आलम
नालंदा ब्यूरो
बिहार

नालंदा/बिहार : स्नातक अधिकार मंच के द्वारा जनसंपर्क अभियान चलाया गया, जनसंपर्क अभियान के तहत सरमेरा प्रखंड के काजीचक मिसियाँ एवं गोपालबाद गांव में स्नातक मतदाताओं से रूबरू होते हुए मंच के राष्ट्रीय संयोजक दिलीप कुमार ने कहा कि इस बार पटना स्नातक निर्वाचन क्षेत्र के चुनाव में सबसे अधिक संख्या नौजवान वोटरों की है, इस चुनाव में जैसे-जैसे विलंब हो रहा है, नौजवान स्नातक वोटर गोल बंद होते जा रहे हैं। स्नातक अधिकार मंच का कारवाँ जिस प्रखंड और जिस गांव में भी जाता है उस गांव पंचायत और प्रखंड के नौजवान वोटर पूरी तरह से समर्पण भाव से स्नातक अधिकार मंच को भरोसा दिलाने का काम कर रहे हैं।

 मंच के संयोजक दिलीप कुमार ने कहा कि यह चुनाव स्नातकों के भविष्य का फैसला करेगा, स्नातक अधिकार मंच की ओर से प्रत्याशी के रूप में दिलीप कुमार ने पूर्व में ही अपना घोषणा कर दिया है। उन्होंने कहा की इस बार का चुनाव पिछले चुनावों से भिन्न  रहेगा, पूर्व में 95% लोगों को यह पता ही नहीं होता था कि स्नातक का चुनाव भी होता है। वैसे भी यह चुनाव विशिष्ट है, चुकी वोट देने का अधिकार इसमें सिर्फ स्नातकों  को ही होता है। स्नातकों को समझना चाहिए कि यह चुनाव उनके लिए उनका भविष्य का फैसला करने वाला है। पूर्व में जितने भी प्रतिनिधि हुए हैं, उन्होंने कभी भी स्नातकों  की आवाज या बेरोजगारों की आवाज न ही सदन में और ना ही जनता के बीच रखी है।

 दूसरी ओर पटना स्नातक विधान पार्षद क्षेत्र की चर्चा करते हुए उन्होंने स्नातक मतदाताओं से अपील करते हुए कहा कि यह क्षेत्र पिछड़ा दलित एवं अल्पसंख्यक बहुल क्षेत्र है, क्षेत्र की  आबादी के हिसाब से इसी समाज की भागीदारी मिलनी चाहिए।  पूर्व के जो भी पार्षद रहे हैं, उन्होंने इन वर्गो की घोर उपेक्षा  की है, इस बार सारे स्नातक जो नए वोटर बने हैं, वह वोट देने के लिए काफी उत्साहित हैं। वहीं स्नातक वोटरों ने कहा कि हमें ऐसा उम्मीदवार चाहिए जो हमारी बातों को सरकार तक पहुंचा सके।

 जनसंपर्क के तहत पिछले हफ्ते गोपालबाद में सड़क दुर्घटना में आकस्मिक निधन हुए रोहित कुमार उर्फ चंदन के पिताजी कौशलेंद्र से भी स्नातक अधिकार मंच के प्रतिनिधि मंडल ने मुलाकात कर उन्हें सांत्वना देते हुए कहा कि हम सब भी  आपके बेटे के समान हैं, संजोग से चंदन कुमार अपने पिता का एकलौता सुपुत्र था और वह स्नातक अधिकार मंच से जुड़ कर उस क्षेत्र में काफी मेहनत कर रहा था।  

गोपालवाद ग्राम के ग्रामीणों ने बताया की नई सड़क जो बनी है उस पर बराबर इस गांव के सामने दुर्घटना होती रहती है इसलिए यहां पर या तो स्पीड ब्रेकर बनाया जाए या गोलंबर का निर्माण करवाया जाए, नहीं तो बराबर दुर्घटना घटती रहेगी, इसपर मंच के संयोजक द्वारा जिलाधिकारी नालन्दा एवं कार्यपालक अभियंता से बात कर इसकी जानकारी देने की बात कही गयी ।

इस अभियान में मिसियाँ पंचायत के मुन्ना मुखिया जितेंद्र प्रसाद सिंह, अजीत कुमार, समीर कुमार, राजीव कुमार गुड्डू, हरिहरनाथ, पिंटू कुमार, नीतीश कुमार के अलावे दर्जनों नौजवान साथी सहयोग कर रहे थे।


Spread the news