नालंदा : दूसरे राज्यों से आने वाले सभी व्यक्तियों के लिए प्रखण्ड स्तर पर क्वांरेटाइन सेंटर बनाने का निर्देश

Spread the news

मुर्शीद आलम
नालंदा ब्यूरो
बिहार

नालंदा/बिहार : जिला में दुसरे राज्यों से आने वाले व्यक्तियों को प्रखंड के क्वॉरेंटाइन सेंटर में 21 दिनों के लिए रखा जायेगा। इसके लिए सभी प्रखंडों में क्वॉरेंटाइन सेंटर बनाया गया है। सभी प्रखंड क्वॉरेंटाइन सेंटर पर नियम के अनुसार सारी सुविधा दी जाएगी। जिसको सुनिश्चित करने के लिए जिला पदाधिकारी योगेंद्र सिंह एवं पुलिस अधीक्षक निलेश कुमार के द्वारा सभी अनुमंडल पदाधिकारी, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी, चिकित्सा पदाधिकारी, थाना प्रभारी के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक की गई।

सभी प्रखंडों में तत्पर कम से कम 500 लोगों की क्षमता का क्वॉरेंटाइन सेंटर तैयार करने का निर्देश दिया गया है जरूरत पड़ने पर एक हजार की क्षमता तक बढ़ाया जा सकेगा। इसके लिए भी तमाम तैयारी करने का भी निर्देश दिया गया है। सभी क्वॉरेंटाइन सेंटर पर सीसीटीवी कैमरा एवं पब्लिक ऐड्रेस सिस्टम की व्यवस्था करने का कहा गया है। इन सेंटरों पर जरूरत के मुताबिक शौचालय एवं बाथरूम पीएचईडी के द्वारा तैयार किया जा रहा है। इस काम को युद्ध स्तर पर कर तैयार करने को कहा गया है। क्वॉरेंटाइन सेंटर में रखे गए व्यक्तियों के लिए प्रखंड मुख्यालय में भोजन की व्यवस्था भी सुनिश्चित की गई है।

 जिला पदाधिकारी ने भोजन की गुणवत्ता का विशेष रुप से ध्यान रखने को कहा। उन्होंने स्थानीय पदाधिकारियों को इसकी जिम्मेवारी दी गई है। सभी क्वॉरेंटाइन सेंटर पर साफ सफाई एवं सैनिटाइजेशन के लिए  जरूरी कदम उठाने को कहा गया तथा कचड़े के डिस्पोजल के लिए भी कवर्ड पिट तैयार करने का निर्देश दिया गया।सभी आने वाले व्यक्तियों का ऑन द स्पॉट निबंधन तथा हेल्थ स्क्रीनिंग किया जायेगा। निबंधन में उनकी ट्रेवल हिस्ट्री रखी जाएगी। मेडिकल स्क्रीनिंग भी की जाएगी। जिला में पहुंचने वाले व्यक्तियों को उनके आवासीय प्रखंड के क्वॉरेंटाइन सेंटर पर भेजने के लिए बियाबानी हवाई अड्डा मैदान में गाड़ी स्टैंड बनाया गया है। वाहन कोषांग के वरीय प्रभारी अपर समाहर्ता तथा नोडल पदाधिकारी जिला परिवहन पदाधिकारी बनाये गए हैं। जिले में आने वाले लोगों को उनका निबंधन करने के पश्चात वाहन कोषांग के माध्यम से संबंधित प्रखंड के क्वॉरेंटाइन सेंटर पर प्रशासन द्वारा पुलिस एस्कॉर्ट में विशेष वाहन से पहुंचाया जाएगा।

प्रत्येक प्रखंड के क्वॉरेंटाइन सेंटर पर आने वाले व्यक्तियों की मेडिकल स्क्रीनिंग की जाएगी तथा कोरोना वायरस के किसी भी लक्षण पाये जाने वाले व्यक्तियों को अलग से आइसोलेशन में रखा जाएगा ऐसे व्यक्तियों के लिए प्रखंड में 50 आइसोलेशन  सेंटर भी बनाया गया है कोरोना वायरस के लक्षण वालें व्यक्तियों को फौरन सैंपल लेकर जांच के लिए पटना भेजा जाएगा तथा पॉजिटिव पाए जाने पर उन्हें तत्काल अनुमंडल स्तर पर तैयार आइसोलेशन केंद्र या अस्पताल में भेजा जायेगा। सभी प्रखंड स्तरीय क्वॉरेंटाइन सेंटर पर सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता रखने का भी निर्देश दिया गया है।

 बैठक में उप विकास आयुक्त राकेश कुमार, नगर आयुक्त अंशु अग्रवाल, सिविल सर्जन डॉ राम सिंहसभी वरीय पदाधिकारी मौजूद थे। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सभी अनुमंडल पदाधिकारी, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, प्रखंड विकास पदाधिकारी, चिकित्सा पदाधिकारी, अंचलाधिकारी, थाना प्रभारी तथा पदाधिकारी कॉन्फ्रेसिंग से जुड़े थे।


Spread the news
advertise