मधेपुरा : तूफान से मुरलीगंज में बड़ी तबाही, किसानों की उम्मीदों पर मौसम ने फेरा पानी

728x90
Spread the news

मिथिलेश कुमार
संवाददाता
मुरलीगंज, मधेपुरा

मुरलीगंज/मधेपुरा/बिहार : मुरलीगंज प्रखंड क्षेत्र में मंगलवार की रात हुई बारिश और आंधी के दौरान मक्के की फसल को काफी क्षति पहुंची है। वहीं ग्यारह घंटे तक विद्युत आपूर्ति भी ठप रहा। बताया जाता है कि प्रखंड क्षेत्र में किसान इस बार बड़े पैमाने पर मक्का लगाए हैं। अभी ठीक से मक्के में दाना भी नहीं आए हैं। खासकर मध्य वर्गीय किसानों को आंधी ने चिंता बढ़ा दी है।

मंगलवार की रात आयी तेज आंधी के साथ बारिश में बड़े पैमाने पर मक्के की फसल क्षति होने का आकलन किया गया है। कृषि समन्वयक विकास कुमार की माने तो प्रखंड क्षेत्र में कुल 75 सौ हेक्टेयर मक्का की खेती हुई है। जिसमें 958 हेक्टेयर मक्का की फसल बर्बाद होने का आकलन किया गया है। उन्होंने बताया कि फसल क्षति अनुदान के लिए किसानों को कृषि इंपुट अनुदान एप में ऑन लाइन आवेदन करना होगा। जिसके बाद संबंधित कृषि समन्वयक के सत्यापन के उपरांत जिला कृषि पदाधिकारी को रिपोर्ट भेज दिया जाएगा। इसके बाद संबंधित किसानों को सरकार द्वारा अनुदान प्राप्त होगा।

पीड़ित किसान भूपेंद्र यादव, रामजी यादव, रमेश यादव, दिलीप यादव, बिहारी यादव, किशन यादव, सुनील राय, दिनेश यादव, सुरेंद्र शर्मा,  विष्णु देव यादव, नागेश्वर यादव, गजेंद्र यादव, बबलू यादव, विद्यानंद यादव, ललन कुमार यादव, योगेंद्र यादव, अनिल यादव, यदुनंदन यादव, दिनेश यादव, नाथन यादव, कुल्लू यादव, लखनलाल यादव, शिवनारायण यादव, सुरेश यादव समिति पूर्व, मनोज यादव समिति, सुनील यादव, अवधेश यादव, योगेंद्र यादव, बिजेंदर यादव, नरेश यादव, कमलेश्वरी यादव, महेंद्र यादव, वार्ड सदस्य संजय यादव पिंकू ततमा सहित दर्जनों किसानों ने कहा कि आंधी से मक्का की फसल टुटकर जमीन पर गिर कर पूरी तरह से बर्बाद हो गई है। अभी ठीक से मक्के में दाने भी नहीं आए थे।


Spread the news