बिहार में शराबबंदी कानून का हाल : जदयू जिला महासचिव की पत्नी शराब कारोबार के जुर्म में गिरफ्तार

728x90
Spread the news

बिहारीगंज से संवाददाता मो० गुलजार आलम एवं प्रिंस कुमार की रिपोर्ट

बिहारीगंज/मधेपुरा/बिहार : बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी कहते हैं कि हमने सामाजिक नैतिकता के मद्देनजर बिहार को नशा मुक्त बनाने हेतु बिहार में सख्त शराबबंदी कानून लागू किया, लेकिन जब उन्हीं की पार्टी के लोग शराब कारोबार में पूरी तरह लिप्त हो तो शराबबंदी कानून पर चौतरफा सवाल उठना लाजमी है।

जी हाँ जानकार आपको भी हैरानी होगी कि मधेपुरा उत्पाद विभाग ने बीती रात गुप्त सूचना के आधार पर जिले के बिहारीगंज थाना से महज कुछ दुरी पर अवस्थित जदयू के जिला महासचिव अरविन्द सिंह के घर छापामारी कर घर से देशी और विदेशी शराब बरामद कर उनकी पत्नी को गिरफ्तार कर लिया है।

विज्ञापन

सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार जदयू जिला महासचिव अरविन्द सिंह का पुत्र गोलू सिंह भी होम डिलीवरी के माध्यम से शराब कारोबार खुलेआम करता है। जिसकी गुप्त सूचना जिला उत्पाद अधीक्षक अमृता सिंह को मिली थी, जिसके बाद उत्पाद अधीक्षक अमृता सिंह के नेतृत्व में बीती रात लगभग 9:00 उत्पाद विभाग की टीम ने जदयू जिला महासचिव अरविन्द सिंह के घर छापामारी कर उनके घर से  750ml की दो बोतल विदेशी शराब और दो पैकेट देसी शराब बरामद किया है। बताया जाता है कि जिस समय  अरविन्द सिंह के घर छापामारी की जा रही थी उस समय अरविन्द सिंह घर में नहीं थे, मौका से उत्पाद टीम द्वारा अरविन्द सिंह की पत्नी को गिरफ्तार कर लिया गया।
 इस बाबत जब जदयू जिला महासचिव अरविंद सिंह से पूछा गया तो उन्होंने ने इस संबंध में कुछ भी बोलने से इनकार कर । वहीँ जन अधिकार पार्टी(लो०) के बिहारीगंज प्रखंड अध्यक्ष अनिल कुमार बंधु ने बताया पुलिस प्रशासन के नाक के नीचे शराब का कारोबार खुलेआम चल रहा है, बावजूद इसके पुलिस कारवाई नहीं करती है।     

विज्ञापन

वहीँ इस मामले से जुड़े किसी भी सवाल का जवाब कैमरे के सामने देने से साफ़ तौर पर इनकार करते हुए जिला उत्पाद अधीक्षक अमृता सिंह ने सिर्फ इतना कहा कि मैं नहीं जानती हूँ की गिरफ्तार महिला के पति कौन है और क्या है। मुझे गुप सूचना मिली थी, जिसके आधार पर छापामारी की गई जहाँ से कुछ शराब बरामद हुई, वहीँ मौके से संजन सिंह नामक महिला को गिरफ्तार कर किया गया है, जिसे जेल भेजने की कारवाई की जा रही है। उन्होंने गिरफ्तार महिला और बरामद शराब की तस्वीर लेने ने से भी मना कर दिया। काफी कोशिशों के बावजूद उत्पाद अधीक्षक कैमरे के सामने कुछ भी बोलने से साफ़ तौर पर इनकार कर दी, सिर्फ मौखिक रूप से महिला की गिरफ़्तारी और शराब की बरामदगी की उन्होंने तस्दीक करते हुए गिरफ्तार महिला को जेल भेजने की करवाई की जाने की बात कही ।  


Spread the news