बिहार : एम्स पटना में आॅटोनाॅमिक फंक्शन लैब की शुरुआत

सीमाब अख्तर
वरीय उप संपादक

पटना/बिहार : अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स पटना के फिजियोलाॅजी विभाग द्वारा शुक्रवार को “आॅटोनाॅमिक फंक्शन टेस्ट्स एंड इट्स इंटरप्रिटेशन“ साइंटिफिक वार्कशौप आयोजित की गई। कार्यक्रम का उद्घाटन एम्स पटना के डीन डाॅ.पी.पी. गुप्ता, चिकित्साधीक्षक डाॅ.सी.एम. सिंह, निमहांस, बंगलुरू के न्यूरोफिजियोलाॅजिस्ट प्रोफेसर डाॅ.टी.एन. सत्यप्रभा और एडीशनल प्रोफेसर डाॅ.कविराजा उडुपा, आयोजन अध्यक्ष एवं फिजियोलाॅजी विभागाध्यक्ष डाॅ.रामजी सिंह और कार्यशाला के आयोजन सचिव डाॅ.योगेष कुमार ने संयुक्त रूप से किया।
एम्स पटना के फिजियोलाॅजी विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर डाॅ.योगेष कुमार ने आॅटोनाॅमिक फंक्शन के क्लिनिकल एप्लीकेशन के बारे में बताया। उन्होंने बताया कि 26 अक्टूबर 2018 से एम्स पटना में आॅटोनाॅमिक फंक्शन लैब की शुरुआत हो गई है। इस लैब के जरिए मरीजों को काफी फायदा होगा। ऐसे मरीज जिन्हें सोकर उठने के बाद चक्कर आता है या जिन्हें पार्किन्संस या इससे मिलती-जुलती बीमारियां होती हैं और डाॅक्टरों को मर्ज का सही पता लगाने में दुविधा होती है, उनकी जांच में यह लैब काफी मददगार साबित होगी। इस लैब में कम्पलीट आॅटोनाॅमिक प्रोफाइल और हार्ट रेट वैरिएबल इत्यादि जांचें हो सकेंगी। एमआई का पता लगाने में भी लैब से मदद मिल सकेगी।
बिहार-झारखंड चैप्टर आॅफ एसोसिएशन आॅफ फिजियोलाॅजिस्ट्स एंड फार्माकोलाॅजिस्ट्स आॅफ इंडिया की यह पहली साइंटिफिक एक्टिविटी रही।

इस दौरान निमहांस, बंगलुरू के न्यूरोफिजियोलाॅजिस्ट प्रोफेसर डाॅ.टी.एन. सत्यप्रभा और एडीषनल प्रोफेसर डाॅ.कविराजा उडुपा ने आॅटोनाॅमिक नर्वस सिस्टम और कार्डियो वेगल फंक्शन के बारे में बताया। इस दौरान एम्स पटना के डाॅ.त्रिभुवन कुमार, डाॅ.कमलेश झा समेत अन्य विषेषज्ञों ने भी व्याख्यान दिया।

Check Also

सुपौल : करंट लगने से छात्र की मौत

🔊 Listen to this छातापुर से रियाज खान की रिपोर्ट: छातापुर/सुपौल/बिहार : छातापुर प्रखंड अंतर्गत …