नालंदा : जिला निर्वाचन पदाधिकारी की अध्यक्षता में राजनीतिक दलों की बैठक

मुर्शीद आलम
नालंदा ब्यूरो
बिहार

नालंदा/बिहार : जिला मुख्यालय बिहारशरीफ में जिला निर्वाचन पदाधिकारी -सह- जिला पदाधिकारी योगेंद्र सिंह ने विभिन्न राजनीतिक दलों के साथ बैठक की। बैठक के दौरान सभी राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों को बताया गया कि जिला के सभी मतदान केंद्र भवनों का भौतिक सत्यापन कराया जा रहा है। जो मतदान केंद्र भवन जीर्ण शीर्ण हो गए हैं, वहां से मतदान केंद्र को निकटतम उपयुक्त भवन में शिफ्ट किया जाएगा।

 उन्होंने सभी राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों को भी अपने स्तर से मतदान केंद्र भवनों का भौतिक सत्यापन करने का अनुरोध किया। प्रशासनिक स्तर पर कराए गए सत्यापन एवं राजनीतिक दलों से इस संबंध में प्राप्त होने वाले प्रस्ताव के आधार पर ही अंतिम रूप से निर्णय लेकर मतदान केंद्र को स्थानांतरित करने का प्रस्ताव आयोग को उचित माध्यम से भेजा जाएगा। कोविड-19 की स्थिति को देखते हुए आयोग द्वारा एक हजार से अघिक मतदाता वाले मतदान केंद्रों के लिए सहायक मतदान केंद्र का प्रस्ताव मांगा गया है। जिला में वर्तमान में 2248 मतदान केंद्र हैं। इनमें से 920 मतदान केंद्रों में एक हजार से अधिक मतदाता हैं। इन मतदान केंद्रों के लिए सहायक मतदान केंद्र का प्रस्ताव भेजा जाएगा। इस संबंध में सभी राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों को भी अपने स्तर से ऐसे मतदान केंद्रों का सत्यापन कर लेने का अनुरोध किया गया। उनसे प्राप्त होने वाले प्रस्ताव को लेकर पुनः सभी निर्वाची पदाधिकारियों के साथ राजनीतिक दलों की उपस्थिति में बैठक की जाएगी।

उक्त बैठक में सर्व सहमति से लिए गए निर्णय के आधार पर सहायक मतदान केंद्र के लिए अंतिम रूप से प्रस्ताव आयोग को भेजा जाएगा। जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने सभी प्रतिनिधियों को जानकारी देते हुए बताया कि इस बार चुनाव में M3 मॉडल के ईवीएम एवं वीवीपैट का उपयोग किया जाएगा। जिला में अब तक विभिन्न राज्यों से इस मॉडल के 6300 बैलट यूनिट, 3800 कंट्रोल यूनिट एवं 5400 वीवीपैट प्राप्त हो चुके हैं। ईवीएम के एफएलसी (फर्स्ट लेवल चेकिंग) का कार्य बेल के इंजीनियर द्वारा 25 जून से सभी राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों की उपस्थिति में किया जाएगा।सभी राजनीतिक दलों को बूथ लेवल एजेंट (बी एल ए) की नियुक्ति कर अद्यतन सूची निर्वाचन शाखा में उपलब्ध कराने का अनुरोध किया गया। उन्हें बताया गया कि मतदाता सूची के सतत अद्यतिकरण का कार्य जारी है। इस सूची में नाम जोड़ने, हटाने एवं संशोधन करने के लिए कार्रवाई की जा रही है। सभी प्रतिनिधियों को अपने स्तर से भी सतत अद्यतिकरण प्रक्रिया के तहत मतदाताओं का नाम जोड़ने, हटाने एवं संशोधन कराने हेतु अधिक से अधिक लोगों को जागरूक करने का अनुरोध किया गया।

बैठक में अपर समाहर्ता, उप निर्वाचन पदाधिकारी सहित इंडियन नेशनल कांग्रेस, भारतीय जनता पार्टी, राष्ट्रीय जनता दल, कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ़ इंडिया, बहुजन समाज पार्टी सहित अन्य राजनीतिक दलों के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

Check Also

सुपौल : करंट लगने से छात्र की मौत

🔊 Listen to this छातापुर से रियाज खान की रिपोर्ट: छातापुर/सुपौल/बिहार : छातापुर प्रखंड अंतर्गत …