Breaking News

बिहार शिक्षा आंदोलन के तहत अररिया में छात्र संगठन एस० आई० ओ० ने निकाली जनजागरूकता रैली

ज़फर अहमद
उप संपादक

अररिया/बिहार : स्टुडेंट्स इस्लामिक आर्गेनाइजेशन ऑफ इंडिया बिहार प्रदेश की ओर से प्रदेश स्तरीय शिक्षा आंदोलन चलाया जा रहा है। एस०आई०ओ० अररिया शाखा द्वारा  शिक्षा बचाओ अभियान के अंतर्गत एक जागरूकता रैली का आयोजन किया गया जो जिले के मैनापुर ईदगाह टोला (बसंतपुर पंचायत) से आरंभ  होकर जोकी के क्षेत्र रवाना हुई।

इस अवसर पर SIO BIHAR के कैम्पस सेक्रेट्री शादमान नोमानी ने कहा कि बिहार शिक्षा का प्रमुख केंद रहा है जिसकी प्रसिद्धि न सिर्फ देश अपितु दुनिया में रही है। इन दिनों यहाँ की शिक्षा व्यवस्था चरमरा गई है। बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा नहीं मिल रही है। विद्यालयों में छात्रों के नामांकन का प्रतिशत तो बढ़ा है परंतु छात्रोपस्थिति में व्यापक सुधार नहीं हो पाया है।प्रारंभिक विद्यालय से लेकर विश्वविद्यालयों तक में अध्यापकों की घोर कमी है।अधिकांशतः विद्यालयों का उत्क्रमण क्रमशः मध्य, उच्च और उच्च माध्यमिक विद्यालयों में तो कर दिया गया है परंतु वहाँ न तो पर्याप्त विषयवार शिक्षक है न ही लिपिक, आदेशपाल और पुस्तकालय अध्यक्ष हैं। बुनियादी सुविधाओं में लैब, पुस्तकालय, खेलसामग्री की भी कमी है।

अधिकांशतः महाविद्यालयों और विश्वविद्यालयों में नियमित कक्षाओं का संचालन नहीं हो पाता है। निश्चय ही ऐसे में उच्च शिक्षा व शोध की परिकल्पना संभव नहीं। आमजनों में जहाँ सरकारी विद्यालयों के प्रति हीन भावना है वहीं प्राईवेट स्कूलों के प्रति आकर्षण बढ़ा है, ऐसे में शिक्षा के निजीकरण की राह हमवार की जा रही हैं। सरकार जहाँ छात्रों को पाठ्यपुस्तक, पोशाक, छात्रवृति, सायकिल और मध्याह्न भोजन जैसी सुविधाएं उपलब्ध करा रही हैं वहीं शैक्षिक परिभ्रमण से लेकर विद्यालय के विकास के लिए प्रत्येक वर्ष राशि आवंटित करती रहती है। समय समय पर शिक्षकों को प्रशिक्षण और बच्चों के स्वास्थ्य संबंधित कैम्प का आयोजन भी करती रही है परन्तु विभागीय अधिकारियों की लापरवाही के कारण सरकारी योजनाएं जमीनी हकीकत नहीं बन पा रही हैं। सबसे महत्वपूर्ण है कि नेता और अधिकारियों के बच्चे सुविधा सम्पन्न बड़े पब्लिक स्कूल में पढ़ते हैं जबकि आर्थिक रूप से कमजोर आमजनों के बच्चे का भविष्य इन सरकारी स्कूलों के भरोसे है। ऐसे में भला देश का भविष्य कैसा होगा?

   SIO BIHAR के ऐक्सपेन्सन सेक्रेट्री मो० मोनाजिर अंसारी ने कहा कि शिक्षा हमारा मौलिक अधिकार है और देश के विकास का प्रमुख आधार है। एस आई ओ शिक्षा व्यवस्था में आ रही गिरावट के प्रति चिंतित है और इस मुद्दे को गंभीरता से ले रही है। इसी के मद्देनजर छात्रों के प्रति सदैव तत्पर रहने वाली छात्र संगठन स्टूडेंट्स इस्लामिक आर्गेनाइजेशन आफ इंडिया की अररिया शाखा ने दिनांक 8 जुलाई 2019 से 31 जुलाई 2019 तक जिला स्तर पर शिक्षा जन जागरूकता अभियान चलाने का निर्णय लिया है। इस अभियान के तहत् विभिन्न कार्यक्रम आयोजित कर जहाँ आमजनों व छात्र समुदाय को शिक्षा के प्रति जागरूक किया जाएगा वहीं विभागीय अधिकारियों, शिक्षकों, और सरकार से मिलकर शिक्षा व्यवस्था में सुधार की मांग की जाएगी।

         उक्त अभियान की सफलता के लिए एस० आई० ओ० आफ इंडिया, अररिया यूनिट के जिला स्तरीय  पदाधिकारियों की एक बैठक भी अररिया स्थित क्षेत्रीय कार्यालय में आयोजित की गयी थी। मौके पर क्षेत्रीय संयोजक डाक्टर रिजवान, जोनल कैंंपस सेक्रेट्री  शादमान नोमानी, अररिया शाखा अध्यक्ष मुशीर आलम, मुजाहिद हुसैन, साबिर आलम आदि उपस्थित रहे। गौरतलब है कि इस अभियान की शुरुआत पटना स्थित प्रदेश कार्यालय में पोस्टर रिलीज कर की गई।

Check Also

बिहार : करोना महामारी के बीच वक्रांगी से निकाल सकेंगे जनधन खातों में आने वाली कोरोना सहायता के लिए सरकारी सब्सिडी की पेमेंट और पेन्शन, टेलीफोन पर डॉक्टर बताएंगे दवा

🔊 Listen to this प्रेस विज्ञप्ति : पटना/बिहार : कोरोनावायरस के चलते पुरे राज्य में …